2018 Roadmap To Mussoorie Program Description

#GSHindi वर्ष 2018 के लिए एक नयी और अनोखी पहल (Initiative) लाया है। जिसका नाम "रोडमैप टू मसूरी" दिया गया है। इस कार्यक्रम का मुख्य लक्ष्य प्रत्येक मेहनती और प्रतिबद्ध अभ्यर्थी को उसके ड्रीम प्लेस "Lal Bahadur Shastri National Academy of Administration (LBSNAA)​ मसूरी" तक पहुँचाना है।

#GSHindi का यह कार्यक्रम सभी अभ्यर्थियों के लिए है अर्थात ऐसे उम्मीदवार जो फ्रेशर्स हैं अथवा एक- दो अथवा ज्यादा अटेम्पटस् दे चुके हैं।

 

=>कार्यक्रम सम्बन्धी विस्तृत रूप रेखा :-

- प्रतिदिन का प्लान : इसके अंतर्गत आपको GS के प्रत्येक खंड का निश्चित सिलेबस दिया जायेगा जिसे आपको तयशुदा समय में पूरा करना होगा।

- डेली टास्क में टॉपिक्स का विस्तृत विवरण  होगा:- क्या- कैसे पढना है.

- टॉपिक्स के अनुसार वैकल्पिक प्रश्न

- एक डिस्क्रिप्टिव प्रश्न

- कर्रेंट अफेयर्स से सम्बंधित कुछ टॉपिक्स ( www.gshindi.com से)

=>आगे क्या :-

प्रत्येक दिन के टारगेट के साथ उस दिन के टॉपिक्स पर हम आपको कुछ वैकल्पिक (Objective) प्रश्न प्रैक्टिस करने को देंगे, जिनका स्तर सरल से मध्यम कठिनाई वाला हो सकता है. इससे यह फ़ायदा होगा कि आपको लगेगा कि वाकई में हमने इन टॉपिक्स को अच्छे से समझ लिया है इनसे सम्बंधित अवधारणायें क्लियर हो गयी हैं.

साथ ही प्रतिदिन मैन्स परीक्षा से सम्बद्ध एक डिस्क्रिप्टिव प्रश्न भी दिया जायेगा, ताकि उत्तर लेखन का अभ्यास संग – संग होता रहे.

-> इस कार्यक्रम के अंतर्गत आपको प्रतिदिन  आपका डेली का टास्क दिया जाएगा जो इसी पेज पर प्रतिदिन update होगा और कोशिश रहेगी की आपके मेल अथवा wts app अथवा facebook Account पर भी भेजा जाए ] इसके लिए आपको अपने ईमेल account से gshindi.com को subscribe करना होगा. wts app ब्राडकास्टिंग के लिए आप हमारे wts app no 8800141518 पर रिक्वेस्ट सेंड कर सकते हैं.
****

=>कर्रेंट अफेयर्स के बिना तयारी अधूरी :- कर्रेंट अफेयर्स के बिना तयारी अधूरीहोगी इसलिए प्रतिदिन के टॉपिक्स के अलावा आप दैनिक करंट अफेयर्स, हमारी वेबसाइट gshindi.com से रेफेर कर सकते है  जहाँ हमने विभिन्न सेक्शन के अंतर्गत RSTV, LSTV, आल इंडिया रेडियो, पीआईबी का सार, योजना  और समाचार पत्रों की मदद से एक जगह ही करंट अफेयर्स को कवर किया है ।

 

=>पुस्तकों की सूची जो विभिन्न टॉपिक्स और विषयों को पढने के दौरान उपयोग में आएँगी :-

आप इन पुस्तकों को अपने पास संग्रहित करके रख लें, यह आपकी तैयारी के दौरान काम आएँगी. पुस्तकों के नाम जानने के लिए इस लिंक पर क्लिक कीजिये.

http://gshindi.com/category/upsc-prelims/upsc-prelims-preperation-guide-books-list

=>इस कार्यक्रम का उद्देश्य :-

- इस कार्यक्रम के पीछे का उद्देश्य आपको पूरे वर्ष सक्रीय रखकर अपने लक्ष्य से होड़ बनाये रखने का है। #GSHindi नहीं चाहता है कि आप तैयारी के दौरान ढीले और निष्क्रिय हो जाएं।

- एक पूरा पैकेज है जो आपको सिविल सेवा परीक्षा में सफल बनाने में सक्षम सिद्ध होगा साथ ही इसके माध्यम से आप गुणात्मक मार्गदर्शन प्राप्त करेंगे।

- Upsc की तैयारी एक प्रकार का युद्द है और आप हमारे जांबाज योद्धा हैं.. आपके कन्धों पर हिंदी जो आगे ले जाने की महान जिम्मेदारी है। याद रखें आपकी सफलता कई अन्य हिंदी भाषी परीक्षार्थियों को प्रोत्साहित करती है। इस बात को सदैव स्मरण में रखें।

 


=>अभ्यर्थियों से GSHindi को उम्मीदें :-

जिस प्रकार इस कार्यक्रम को लेकर हम अच्छा देने का अतिरिक्त दबाब महसूस कर रहे हैं. उसी प्रकार हम भी आपसे कुछ उम्मीद करते हैं, यह हैं :-

 

  • ·        पूर्ण समर्पण
  • ·        प्रतिबद्दता
  • ·        एकाग्रचित्त
  • ·        अतिरिक्त मेहनत करने की इच्छा शक्ति
  • ·        GSHindi के कार्यक्रम पर विश्वास

=>अभ्यर्थियों द्वारा की जाने वाले सामान्य गलतियां

  •  कार्यक्रम  का पालन करने में अनियमितता
  •  टेस्ट पेपर्स और दिए जाने वाले ऑब्जेक्टिव question को गंभीरता से नहीं लेना
  •  व्यक्तिगत नोटस बनाने पर ध्यान नहीं देना
  • कर्रेंट अफेयर्स अपडेटस से दूर रहना
  • समय समय पर रिविजन नहीं करना
  • प्लान अथवा स्ट्रेटेजी बनाकर कार्य न करना.

***

=>कार्यक्रम की शुरूआत :- रोडमेप टू मसूरी कार्यक्रम -2018

     24  जुलाई 2017   से शुरू किया जा रहा है

***
=> कैसे जुड़ें हमसे :-

आप रोडमेप टू मसूरी कार्यक्रम -2018 के लिए हमारी वेबसाइट पर जाकर subscribe कर सकते हैं :-

-      अपने ई- मेल अकाउंट के माध्यम से subscribe कर सकेंगे.
www.gshindi.com

इसके बाद रिविजन हेतु अलग से 60 days स्ट्रेटेजी लायी जाएगी

 

           UPSC_प्रीलिम्स के प्रथम प्रश्न पत्र (GS Paper-I) के सम्पूर्ण Syllabus को हमने विभिन्न खण्डों Sections में तोडा है और फिर इन खण्डों को विभिन्न topics में ब्रेक किया है.
सामान्य अध्ययन के  सभी खण्डों के Topics प्रत्येक दिन GSHindi द्वारा अपने facebook पेज पर साथ ही  आपके ईमेल, फेसबुक अकाउंट पर और wts ap ब्राडकास्टिंग के द्वारा आपके wts app पर भेजा जायेगा.

GS / सामान्य अध्ययन के विभिन्न खण्डों के सन्दर्भ में कुछ महत्वपूर्ण बातें और तथ्य :-
1. Geography (भूगोल) को मोटा मोटा तीन भागों में तोड़ सकते हैं, ताकि भूगोल को समझने में आसानी होगी. रोडमेप के अंतर्गत भूगोल के तीनों खण्डों के विभिन्न टॉपिक्स, उनसे सम्बंधित महत्वपूर्ण अवधारणानाएँ आप तक प्रतिदिन पहुंचाई जाएँगी.

यह तीन खंड हैं:- भारत का भूगोल, भौतिक भूगोल, विश्व भूगोल

अगर पिछले कुछ वर्षों के पेपर्स पर नज़र डालें तो आप उनके विश्लेषण से पाएंगे कि अधिकतम प्रश्न भारत के भूगोल सेक्शन से ही पूंछे गए हैं . UPSC के दृष्टिकोण से Indian Geography सबसे महत्वपूर्ण मान सकते हैं.

**विशेष :- भूगोल के अध्ययन के दौरान एटलस का उपयोग आवश्यक रूप से किया जाना चाहिए.

2. Environment (पर्यावरण, पारिस्थितिकी और जैवविविधता) :-.

रोडमेप के अंतर्गत पर्यावरण और इकोलॉजी के विभिन्न भागों के टॉपिक्स, उनसे सम्बंधित महत्वपूर्ण अवधारणानाएँ आप तक प्रतिदिन पहुंचाई जाएँगी.

मोटा- मोटा हम इसे निम्न टॉपिक्स में विभक्त कर सकते हैं :- बेसिक्स, जैव विविधता और उसका संरक्षण, जलवायु परिवर्तन; राष्ट्रिय- अन्तराष्ट्रीय विधान, प्रोटोकोल, सम्मलेन, प्रदूषण.

अगर पिछले कुछ वर्षों के प्रीलिम्स पेपर्स पर नज़र डालें तो आप उनके विश्लेषण से पाएंगे कि अधिकतम प्रश्न पर्यावरण और इकोलॉजी सेक्शन से ही पूंछे गए हैं .(100 प्रश्नों में से 20- 26 प्रश्न) UPSC के दृष्टिकोण से पर्यावरण के सन्दर्भ में घटित होने वाली दिन- प्रतिदिन के इवेंट सबसे अधिक महत्वपूर्ण मान सकते हैं.

3. History (इतिहास) :- इतिहास को मोटा मोटा तीन भागों में तोड़ सकते हैं, ताकि प्राचीन इतिहास से मॉडर्न इंडिया तक की विभिन्न गतिविधियों को समझने में आसानी हो.

यह तीन भाग हैं :- प्राचीन भारत-, मध्यकालीन भारत, आधुनिक भारत 

रोडमेप टू मसूरी-2018  के अंतर्गत इतिहास के तीनों भागों के विभिन्न टॉपिक्स, उनसे सम्बंधित महत्वपूर्ण अवधारणानाएँ आप तक प्रतिदिन पहुंचाई जाएँगी.

अगर पिछले कुछ वर्षों के पेपर्स पर नज़र डालें तो आप उनके विश्लेषण से पाएंगे कि इतिहास खंड से अधिकतम प्रश्न आधुनिक भारत (Modern India) सेक्शन से ही पूंछे गए हैं . UPSC के दृष्टिकोण से Modern India को सबसे महत्वपूर्ण मान सकते हैं.

 

4. Polity (संविधान और राजनीति विज्ञान) :-

:- संविधान ,संविधान का विकास,  संवैधानिक और अन्य संस्थाएं जैसे बड़े ब्लॉक्स में तोड़कर इनके अंतर्गत आने वाले विभिन्न टॉपिक्स को कवर करेंगे.

-> अगर पिछले कुछ वर्षों के पेपर्स पर नज़र डालें तो आप उनके विश्लेषण से पाएंगे कि Polity खंड से अधिकतम प्रश्न भारतीय संसद से ही पूंछे गए हैं . UPSC के दृष्टिकोण से सम्पूर्ण polity को महत्वपूर्ण मान सकते हैं.

5. Economics (अर्थशास्त्र) :-

अर्थशास्त्र के अध्ययन को आसन बनाने के लिए इसे माइक्रो- इकोनॉमिक्स, मैक्रो- इकोनॉमिक्स में विभक्त कर देते हैं. अगर पिछले वर्षों के पेपर्स पर नज़र डालें तो आप पाएंगे कि अधिकतम प्रश्न बेसिक कांसेप्ट से ही आये हैं, ऐसी टर्म्स जो प्रतिदिन के न्यूज़ पेपर्स में बहुतायत से आती रहती हैं. इसके अलावा कुछ वैश्विक संगठन जैसे WTO, WB, IMF और अन्य संघठन से सबंधित टॉपिक्स.

6. Science and Technology (सामान्य विज्ञान और तकनीक) सामान्य विज्ञान के अध्ययन को आसन बनाने के लिए इसे तीन भागों जीव विज्ञान, भौतिकी और रासायनिक शास्त्र में विभक्त कर देते हैं. इसके अलावा टेक्नोलॉजी सेक्शन भी अति महत्वपूर्ण है.

अगर पिछले वर्षों के पेपर्स पर नज़र डालें तो आप पाएंगे कि अधिकतम प्रश्न टेक्नोलॉजी सेक्शन से ही पूंछे गए हैं हैं, ऐसी तकनीकें अथवा वैज्ञनिक अन्वेषण जो दिन- प्रतिदिन के न्यूज़ पेपर्स में बहुतायत से आती रहती हैं. UPSC के दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण मान सकते हैं.

7. Art & Culture (कला और संस्कृति) :-

कला और संस्कृति को स्थापत्य कला, नृत्यकला, संगीत, साहित्य और बचा हुआ सांस्कृतिक पक्ष में बाँट सकते हैं. अगर पिछले वर्षों के पेपर्स पर नज़र डालें तो आप पाएंगे कि कला और संस्कृति के प्रश्न ज्यादातर अमूर्त संस्कृति से ही आते हैं जो आम तौर पर लोक कला और लोकसंस्कृति पर आधारित होते हैं. सामान्य अध्ययन का यह खंड मुख्य परीक्षा के प्रथम प्रश्न पत्र में भी उतना ही उपयोगी है जितना की प्रेलिम्स में.

8. Current Affairs (समसामयिकी) :- यह आपका पहले के अनुसार प्रतिदिन चलता रहेगा. अर्थात आपको daily न्यूज़ पेपर और gshindi.com के विभिन्न प्रखंडों जैसे राज्यसभा टीवी(RSTV), लोकसभा टीवी (LSTV), PIB का सार, विभिन्न अंग्रेजी न्यूज़ पेपर्स के एडिटोरियल का हिंदी में भावानुवाद तथा डेली के कर्रेंट डोज तो पढना ही है.

ध्यान रहे इस बार UPSC ने सामान्य अध्ययन के प्रश्न पत्र में अधिकतम प्रश्न ऐसे पूंछे थे जिनका प्रत्यक्ष- अप्रत्यक्ष सम्बन्ध कर्रेंट्स के मुद्दों और ख़बरों से था.

तो फिर आइये शुरुआत करते हैं GSHindi के साथ RoadMap to Mussoorei , आप और हम नया इतिहास रचेंगे.

**जय हिंदी**

Download this article as PDF by sharing it

Thanks for sharing, PDF file ready to download now

Sorry, in order to download PDF, you need to share it

Share Download