October 2015

जर्मनी और भारत के आपसी सम्बन्ध और जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल का भारत दौरा

- जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल तीन दिन की भारत यात्रा पर आ रही हैं। इस दौरान वह व्यापार और क्षेत्र में सुरक्षा स्थिति सहित मुख्य द्विपक्षीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से व्यापक वार्ता करेंगी।

- इस दौरान उनके दिमाग पर सीरिया में चल रहे संघर्ष के कारण भारी संख्‍या में जर्मनी पहुंचे शरणार्थियों की चिंता भी होगी। इस संकट के कारण आने वाले कुछ महीनों और सालों तक जर्मनी की आर्थिक हालत पर जबरदस्‍त प्रभाव पड़ेगा।

जलवायु परिवर्तन पर भारत के रोडमैप : कार्बन उत्सर्जन में 35% तक कटौती

- भारत ने इस साल पेरिस में होने वाले महासम्मेलन से पहले जलवायु परिवर्तन पर अपने रोडमैप की घोषणा कर दी है।

यूरोपीय संघ(EU) के साथ मुक्त व्यापार समझौता (FTA) वार्ता और उसका भविष्य

- देश में निर्यात की स्थिति गिरती हुई देख भारत सरकार अब यूरोपीय संघ के साथ मुक्त व्यापार समझौते (एफटीए) पर स्थगित वार्ता को ज्यादा दिनों तक टालना नहीं चाहती। ऐसे में जर्मनी की चांसलर एंजेला मार्केल की शुरू हो रही भारत यात्र भारत व यूरोपीय संघ के बीच मुक्त व्यापार समझौते पर बातचीत को नए सिरे से बढ़ाने का रास्ता साफ कर सकती है।

भारत-मिस्र संबंध: और भारतीय मंत्री की इजिप्ट यात्रा

- ‘मिस्र के साथ भारत के संबंधों का असर इस क्षेत्र के बाकी देशों के साथ भारत के संबंधों पर भी पड़ता है.

दक्षिण चीन सागर में फिलपींस को मिला भारत का समर्थन

china

- दक्षिण चीन सागर में द्वीपों को लेकर चीन के साथ चल रहे विवाद में भारत ने फिलिपींस का साथ दिया है । साउथ चाइना सी को फिलिपींस की सरकार वेस्ट फिलिपींस सी कहती है और इस सामुद्रिक विवाद के शांतिपूर्ण समाधान पर बल देती रही है।

आकाश' का सफल परीक्षण

- भारत ने सतह से हवा में प्रहार करने में सक्षम अपनी स्वदेश विकसित आकाशमिसाइल का ओडिशा के चांदीपुर में एकीकृत परीक्षण रेंज के प्रक्षेपण परिसर-3 से सफल परीक्षण किया.

पर्यावरण संरक्षण & जलवायु परिवर्तन लिए क्या है हमारा रोडमैप

- इधर कुछ समय से पर्यावरण बचाने को लेकर चल रहे अंतरराष्ट्रीय अभियानों में भारत की भूमिका बेहद अहम हो गई है। अपनी जवाबदेही को भारत ने समझा है इसलिए उसने अपना स्थापित रुख बदलते हुए बाकी देशों के साथ सहयोग की नीति अपनाई है।

चीन द्वारा एक बच्चे की नीति को वापिस लेने के पीछे के निहितार्थ

- चीन ने चार दशक से लागू एक बच्चे की नीति के कड़े प्रतिबंध को ढीला करते हुए दो बच्चों की इजाजत दी है।

- चीन नौजवानों की कमी दो-चार हो रहा है, जहां फैक्टियों की उत्पादन क्षमता भी धीरे-धीरे कम हो रही है।

दस का दम :- स्वच्छ जल की ताकत से बदल सकती है दुनिया

1). जलापूर्ति, साफ-सफाई और स्वच्छता में सुधार:-
- 20-50 लीटर: संयुक्त राष्ट्र के अनुसार रोजाना पीने, खाना बनाने और सफाई में इस्तेमाल के लिए हर एक व्यक्ति को जरूरी पानी,
- 7
में से 1 व्यक्ति को स्वच्छ पेय जल नसीब नहीं और तीन में से एक व्यक्ति पर्याप्त साफ-सफाई से महरूम