हरित बांड (green bond )

  • ये किसी भी अन्य बौंड की ही तरह है जहां एक निकाय धन जुटाने के लिए निवेशकों के लिए ऋण साधन जारी करते हैं|
  • ग्रीन बौंड की पेशकश का लाभ 'हरित' परियोजनाओं के वित्त पोषण में उपयोग के लिए होता है और यही है जो इसे अन्य बौंड से अलग बनाता है. 
  • 'ग्रीन' बौंड और एक नियमित बौंड के बीच का मुख्य अंतर : green bond में  जारीकर्ता सार्वजनिक रूप से यह कहता है कि वह पर्यावरणीय लाभ जैसे अक्षय ऊर्जा, कम कार्बन परिवहन आदि जैसी 'हरित' परियोजनाओं, परिसंपत्तियों या व्यापारिक गतिविधियों के लिए पूंजी की उगाही कर रहा है. 
  • पहली बार विश्व बैंक और यूरोपीय निवेश बैंक के द्वारा पहली बार 2007 यह लाया गया था
  • भारत में सबसे पहले yes bank ने इसको जारी किया था