आधार पे सर्विस: कैशलैस के बाद अब कार्डलैस की बारी, फिंगरप्रिंट से होंगे सभी पेमेंट

★ नोटबंदी के बाद सरकार ने कैशलैस भुगतान (डेबिट-क्रेडिट कार्ड) को बढ़ावा दिया और अब सरकार कार्डलैस भुगतान की राह पर है। 
★14 अप्रैल को डॉ. भीमराव आंबेडकर की जयंती के मौके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आधार पे सर्विस की शुरुआत की। 
★इसके अंतर्गत उपभोक्ता फिंगरप्रिंट के जरिए पेमेंट कर पाएंगे। इसके लिए यूजर का बैंक अकाउंट आधार से लिंक होना आवश्यक है। 

पेट्रोल पंप्स के साथ छोटी खुदरा दुकानों पर भी मिलेगी सविधा:

- आधार पे के जरिए उपभोक्ता बड़ी रिटेल चेन के साथ छोटी खुदरा दुकानों पर भी पेमेंट कर पाएंगे। सरकार चाहती है कि आने वाले 6 से 9 महीने में करीब 70 फीसद दुकानों और ट्रांजेक्शन प्वाइंट्स पर आधार पे की सुविधा शुरु की जाए। 

★आधार पे की सबसे अहम खासियत यह है कि इसमें फ्रॉड होने की संभावना नहीं रहेगी। क्योंकि इसमें उंगली का निशान लिए बिना पेमेंट नहीं किया जा सकेगा।

कैसे कर पाएंगे पेमेंट :
★पेमेंट करने के लिए उपभोक्ता को अपनी उंगली का निशान देना होगा। उपभोक्ता से उसके बैंक का नाम पूछा जाएगा। 
★पेमेंट लेने वाला उस बैंक के सर्वर से मशीन को लिंक करेगा। इसके बाद उपभोक्ता को उंगली का निशान देना होगा। ऐसा करने से पेमेंट हो जाएगा।

★फिलहाल देश में आधार धारकों की संख्या 111 करोड़ से अधिक हो गई है। जिन लोगों के बैंक खाते आधार के साथ लिंक हो गए हैं, वे सभी इस व्यवस्था का लाभ उठा सकेंगे।
★ वैसे सरकार ने सभी बैंक खातों को आधार से जोड़ने की मुहिम शुरू की है। अब तक 42 करोड़ खाते आधार से लिंक किये जा चुके हैं। 18 वर्ष या उससे ज्यादा की उम्र वाले लगभग प्रत्येक व्यक्ति को आधार मिल चुका है। 
★सरकार की तरफ से शुरू हो रही इस वित्तीय व्यवस्था ‘आधार पे’ में बगैर किसी कार्ड या फोन के न केवल भुगतान किया जा सकेगा, बल्कि प्राप्त भी किया जा सकेगा। 

★इस व्यवस्था में भुगतान हासिल करने वाले के पास एक स्मार्टफोन होना चाहिए, जिससे बायोमेटिक सेंसर जुड़ा होगा। सेंसर की कीमत मात्र दो हजार रुपये है। भुगतान करने के लिए फोन के एप में आधार संख्या डालनी होगी और अंगूठे की पहचान कराकर पैसा भेजा जा सकता है।

★आधार आधारित सिस्टम की शुरुआत 14 बैंकों के साथ होने की संभावना है। इनमें से पांच बैंक भारतीय स्टेट बैंक, सिंडीकेट बैंक, आईडीएफसी बैंक, आंध्रा बैंक और इंडसइंड बैंक ने पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया है। 
★सरकार ने आधार पे को भीम के साथ जोड़ने का इरादा जताया है। इससे सभी बैंक एक साथ नयी सुविधा मुहैया करा सकेंगे।

Download this article as PDF by sharing it

Thanks for sharing, PDF file ready to download now

Sorry, in order to download PDF, you need to share it

Share Download
Tags