आतंकवाद पर दोहरे मापदंड

हाल ही में खबरों  में क्यों

ताजा मामला यह है कि पाकिस्तान स्थित संगठन जैशे-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने को लेकर जब अमेरिका ने संयुक्त राष्ट्र में मामला उठाने की कोशिश की, तो चीन ने इसमें अड़ंगा डाल दिया। इस मुद्दे पर ब्रिटेन और फ्रांस पहले से अमेरिका के साथ थे।

चीन का मिसाइल प्रदर्शन क्षेत्र में बढ़ते तनाव का संकेत

Context:

आमतौर पर अपने हथियार गोपनीय रखने वाली चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने मध्यम दूरी की मिसाइल डीएफ-16 का प्रदर्शन करके जता दिया है कि वह अमेरिका के साथ एक प्रकार के शीतयुद्ध में उलझने को तैयार है। चीन ने कहा भी है कि 20 जनवरी को डोनाल्ड ट्रम्प के राष्ट्रपति बनने के बाद युद्ध का खतरा ज्यादा वास्तविक हो गया है और एशिया व प्रशांत की सुरक्षा की स्थिति और जटिल हो गई है।

जनरल एंटी अवायडेंस रूल्‍स-गार (GAAR) 1 अप्रैल 2017 से होगा लागू

वित्‍त मंत्रालय के अनुसार जनरल एंटी अवायडेंस रूल्‍स-गार (GAAR) 1 अप्रैल 2017 से लागू कर दिया जाएगा.

 

सीबीडीटी (सेंटल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्स) ने आज जीएएआर प्रावधानों के लागू करने पर स्पष्टीकरण जारी किया है जिससे इसके लागू होने का रास्ता साफ हो गया है. गार अर्थात जनरल एंटी अवॉयडेंस रूल्स नियमों का एक ऐसा समूह है जिसके तहत कानून बनाया जाएगा कि जो भी विदेशी कंपनी भारत में निवेश करें, वो यहां के टैक्स नियमों के मुताबिक ही टैक्स अदा करें.

 

भारत-यूएई के बीच डिफेंस,सिक्युरिटी, आईटी सर्विस और हाईवे प्रोजेक्ट को लेकर 14 एग्रीमेंट्स साइन

अबू धाबी के प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जाएद अल नाह्यां और नरेंद्र मोदी के बीच हैदराबाद हाउस के गार्डन में सैर पर अहम चर्चा हुई। दो साल पहले जब बराक ओबामा रिपब्लिड डे परेड देखने भारत आए थे तब भी मोदी ने उन्हें गार्डन की सैर कराई और चाय पिलाई थी।

भारत-UAE ऑइल रिजर्व डील

भारत ने अपनी ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने के लिहाज से बुधवार को यूएई से ऑइल रिजर्व तैयार करने को लेकर अहम करार किया। इसके तहत भारत की कुल पेट्रोलियम जरूरत का छठा हिस्सा ऑइल रिजर्व में उपलब्ध रहेगा

Some key Points:

1. भारत सरकार ने यूएई के साथ डील में उसे कर्नाटक के मंगलुरु की अंडरग्राउंड क्रूड ऑइल स्टोरेज फैसिलिटी के आधे हिस्से को भरने की अनुमति दी गई है।

नौकरियां बचाने के लिए एशिया पैक्ट से बाहर निकलेगा अमेरिका

- अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन ने कहा है कि उनका देश एशिया पैक्ट से अपना हाथ खींच लेगा। ट्रंप प्रशासन ने बताया कि अमेरिकी नौकरियों को बचाने के लिए उनकी व्यापार नीति के तहत पहले कदम के रूप में इस फैसले पर अमल किया जाएगा।

- इसके तहत 12 देशों के ट्रांस-पैसेफिक पार्टनरशिप (टीपीपी) ट्रेड पैक्ट से देश बाहर आ जाएगा।