रक्का का अपना आखिरी गढ़ खोने के बाद भी आईएस का खत्म होना मुश्किल क्यों

Although ISIS area has shrinked but its reemergence can not be neglected and instability in Syria and west can provide conducive ground for its reemergence.

#Satyagriha

इस्लामिक स्टेट (आईएस) की राजधानी कहे जाने वाले रक्का शहर पर अमेरिका समर्थित कुर्द और अरब लड़ाकों का कब्जा होना इस आतंकी संगठन के लिए अब तक का सबसे बड़ा झटका है. आईएस के नियंत्रण में एक समय ब्रिटेन के बराबर भूभाग आ चुका था. फिलहाल यह संगठन इराक और सीरिया के कुछ छोटे-मोटे इलाकों तक सिमटकर रह गया है.

 वैश्विक राजनीतिक समीकरण 

Foreign policy is never static it is dynamic and changes, There are new equation right now and india have to move accordingly
#Prabhat_Khabar
अंतरराष्ट्रीय संबंधों के विशेषज्ञ लॉर्ड पामर्स्टन ने ठीक ही कहा है कि अंतरराष्ट्रीय राजनीति में न तो कोई हमारा स्थायी मित्र है, और ना ही कोई स्थायी शत्रु, बल्कि हमारे हित स्थायी हैं, और प्रत्येक राष्ट्र का यह कर्तव्य है कि वह अपने हितों की पूर्ति करे. इस समय, विश्व राजनीति में जिस प्रकार नये समीकरण उभर रहे हैं, उसे देखकर लगता है कि भारत-अमेरिकी संबंध इसका अच्छा उदाहरण है.
Indian Foreign Policy under current regime

समझौते पर संकट (Iran Issue)

US has taken unexpected turn and refused to certify Iran deal
#Navbharat_times
Recent context
अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने ईरान परमाणु समझौते को खारिज करने की दिशा में एक ठोस कदम उठाकर सभी संबंधित पक्षों को तनाव में ला दिया है। हालांकि उन्होंने सीधे तौर पर समझौते से बाहर आने की घोषणा नहीं की लेकिन कांग्रेस के सामने यह सत्यापित करने से इनकार कर दिया कि ईरान समझौते का पालन कर रहा है।

ट्रंप का अस्थिर रवैया

There are two personalities of trump and due to this there is no predictabiity of US foreign policy and he is proving Palman dictum true.
#Nai_Duniya


अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का ताजा व्यवहार उनकी पहचान के अनुरूप ही है। वे किस मुद्दे पर कब, क्या रुख लेंगे, यह अनुमान लगाना हमेशा कठिन रहता है। उनके इसी रवैये के कारण दुनिया के तमाम पुराने समीकरण और संबंध आज अनिश्चित हो गए हैं।