भारत ने बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-5 का किया सफल परीक्षण

अंतरमहाद्विपीय बैलेस्टिक मिसाइल अग्नि-5 

 भारत ने स्वदेशी ज्ञान कौशल से निर्मित अंतरमहाद्विपीय बैलेस्टिक मिसाइल अग्नि-5 का सफलता पूर्वक परीक्षण किया है। इस मिसाइल का यह पांचवां सफल परीक्षण था।

- तीन चरणों में ठोस प्राणोदक से चलने वाले अग्नि-5 को एकीकृत परीक्षण क्षेत्र के परिसर किया गया।

अग्नि-5, अग्नि श्रेणी की मिसाइल है, जिसको DRDO द्वारा विकसित किया गया है.

- 17.5 मीटर लंबी, 2 मीटर चौड़ी, 50 टन वजन की यह मिसाइल डेढ़ टन तक परमाणु हथियार ढोने में भी सक्षम है।

स्पाइडर मिसाइल : सतह से हवा में मार करने में सक्षम इस्राइल मिसाइल

स्पाइडर मिसाइल

  • भारत ने कम दूरी की त्वरित प्रतिक्रिया मिसाइल परीक्षणों की श्रृंखला के तहत सतह से हवा में मार करने में सक्षम स्पाइडर मिसाइल  का परीक्षण किया. और इसने चालक रहित विमान को लक्षित किया.
  • वायु रक्षा प्रणाली को और मजबूत करने के लिए अत्याधुनिक हथियार प्रणाली के विभिन्न मापदंडों की पुष्टि करने के लिए यह परीक्षण किया गया था.

स्पाइडर मिसाइल की विशेषताएं -

नौसेना के लिए ब्रह्मोस सुपरसोनिक मिसाइल का किया गया सफल परीक्षण

  • भारत ने युद्धपोत से जमीन पर मार करने वाली ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण किया है। इसके साथ ही नौसेना को समुद्र से दुश्मन के इलाके में अंदर तक मार करने की क्षमता हासिल हो गई है।
  •  सुपरसोनिक लैंड क्रूज मिसाइल के सफल परीक्षण के साथ भारत चुनिंदा देशों के विशिष्ट क्लब में शामिल हो गया है।
  • भारत से पहले केवल अमेरिका, रूस, चीन और ब्रिटेन के पास ही समुद्र से जमीन पर मार करने की लैंड क्रूज सुपरसोनिक मिसाइल क्षमता रही है।
  • इस मिसाइल का परीक्षण बंगाल की खाड़ी में किया गया। लंबी दूरी की ब्रह्मोस मिसाइल का यह संस्करण भारत और रूस ने मिलकर विकसित किया है। ब्र

ऑपरेशन मेघदूत: 1984 में सियाचिन पर कब्जा करने के लिए हुआ ऑपरेशन

 33 साल पहले भारतीय सेना के इस बेहद अहम ऑपरेशन को शौर्य और पराक्रम के मिसाल के तौर पर देखा जाता है. वर्ष 1984 में सियाचिन ग्लैशियर को फतह करने के उद्देश्य से इस ऑपरेशन को लॉन्च किया गया था.

  • सियाचिन में भारतीय फौजों की किलेबंदी इतनी मजबूत है कि पाकिस्तान चाह कर भी इसमें सेंध नहीं लगा सकता. दरअसल, ये सफलता है 1984 के उस मिशन मेघदूत की, जिसे भारतीय सेना ने सियाचिन पर कब्जे के लिए शुरू किया था.

भारतीय सेना का अहम ऑपरेशन

भारत का इजरायल से अब तक का सबसे बड़ा रक्षा समझौता, मिसाइल डिफेंस सिस्टम खरीदेगा

★ इजरायल ने भारत के साथ 2 बिलियन डॉलर (करीब 12 हजार करोड़ रुपए) की डिफेंस डील पर साइन किए हैं।
★ इसके तहत इजरायल भारत को मिसाइल डिफेंस सिस्टम देगा। इजरायल एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज (IAI) ने इस बात की जानकारी दी।

★ इसके जरिए दुश्मनों के एयरक्राफ्ट, मिसाइल और ड्रोन्स को 70 किमी के दायरे में मार गिराया जा सकता है।
 इस डील का मकसद भारतीय प्रधानमंत्री के इजरायल दौरे से पहले दोनों देशों के बीच सामरिक रिश्तों को मजबूती देना है। 

भारत की अग्नि-5 का असर: चीन अब PAK के साथ बनाएगा बैलेस्टिक मिसाइलें

=>"भारत की अग्नि-5 का असर: चीन अब PAK के साथ बनाएगा बैलेस्टिक मिसाइलें"

-  भारत से मुकाबले के लिए चीन ने पाकिस्तान के साथ बैलेस्टिक मिसाइल बनाने का फैसला किया है। पाकिस्तान के आर्मी चीफ इन दिनों चीन की ऑफिशियल विजिट पर हैं।

◆ पाकिस्तान के साथ मिसाइलें बनाने के चीन के फैसले को भारत की अग्नि-5 से जोड़कर देखा जा रहा है।

Background:- भारत की न्यूक्लियर मिसाइल अग्नि-5 20 मिनट के अंदर पांच हजार किलोमीटर तक जा सकती है। इसकी रेंज में पूरा चीन आता है।

=>क्या है चीन का प्लान...