Daily Current Affairs

नजरिये से खूबसूरत दिखेगी दुनिया

 

- यदि खेत में बीज न डाले जाएं तो कुदरत उसे घास-फूस से भर देती है। उसी तरह से यदि दिमाग में सकारात्मक विचार न भरें जाएं तो नकारात्मक विचार अपनी जगह बना ही लेते हैं और दूसरा नियम है कि जिसके पास जो होता है वह वही बांटता है। सुखी सुख बांटता है, दु:खी दुःख बांटता है, ज्ञानी ज्ञान बांटता है, भ्रमित भ्रम बांटता है, और भयभीत भय बांटता है। जो खुद डरा हुआ है वह औरों को डराता है, दबा हुआ दबाता है, चमका हुआ चमकाता है, जबकि सफल इनसान सफलता बांटता है।

क्विटो सम्मलेन: शहरों को समावेशी और सतत बनायें; ताकि शहर जीने के लायक रहें

आज का संपादकीय #The_Hindu_Editorial

सन्दर्भ:- यह एक बड़ी चुनौती है कि भारत सहित दुनिया भर में शहरों की आबादी जिस तरह से बढ़ रही है उस हिसाब से वहां जीवन की गुणवत्ता नहीं बढ़ रही. (द हिंदू का संपादकीय)

ऑनलाइन अपराधों के प्रति सबसे अधिक संवेदनशील होते हैं बच्चे : UNICEF

- युनिसेफ का मानना है कि डिजिटल प्रौद्योगिकी बच्चों के विकास के बहुत से अवसर प्रदान करती है लेकिन डिजिटल साक्षरता और आनलाइन सुरक्षा की कमी के कारण बच्चों के साथ आनलाइन अपराध, उत्पीड़न एवं शोषण की सम्भावना कई गुना अधिक होती है। बच्चों के खिलाफ होने वाले साइबर अपराध तेजी से बढ़ रहे हैं लेकिन बहुत कम ऐसे हैं जो प्रकाश में आ पाते हैं।

अंतरिक्ष बाज़ार में बढ़ता भारत का दमखम (Most IMP)

  • अंतरिक्ष बाजार में भारत के लिए संभावनाएं बढ़ रही हैं। इसने अमेरिका सहित कई बड़े देशों का एकाधिकार तोड़ा है। असल में, इन देशों को हमेशा यह लगता रहा है कि भारत यदि अंतरिक्ष के क्षेत्र में इसी तरह से सफ़लता हासिल करता रहा तो उनका न सिर्फ उपग्रह प्रक्षेपण के क़ारोबार से एकाधिकार छिन जाएगा बल्कि मिसाइलों की दुनिया में भी भारत इतनी मजबूत स्थिति में पहुंच सकता है कि बड़ी ताकतों को चुनौती देने लगे।
  • पूरी दुनिया में सैटेलाइट के माध्यम से टेलीविजन प्रसारण, मौसम की भविष्यवाणी और दूरसंचार का क्षेत्र बहुत तेजी से बढ़ रहा है और चूंकि ये सभी सुविधाएं उपग्रहों के माध्यम से संचालि

विकासशील देशों का बृहत संघ बनाकर सार्क के विकल्प तलाशे भारत

- सार्क का उद्देश्य है कि क्षेत्र के देशों के बीच आपसी व्यापार एवं समन्वय को बढ़ाकर एक-दूसरे की समृद्धि एवं खुशहाली में सहयोग हो। परन्तु कश्मीर विवाद के कारण पूरी व्यवस्था भटक जा रही है।
सार्क देश दो बड़े गुटों के बीच लटके हुए हैं। एक तरफ पाकिस्तान-चीन का गठबन्धन है तो दूसरी तरफ भारत।

भारत के म्यांमार के साथ संबंध कैसे हों ?

 

- भारत को म्यांमार के साथ संबंध बढ़ाने की ओर गंभीरता से ध्यान देने की जरूरत है जो कि हमारे पूर्वोत्तर के राज्यों और पूर्वी तटों के लिए उभरी नई सामरिक परिस्थितियों में काफी अहम भूमिका निभा सकता है।