Daily Current Affairs

भारत-अमेरिका रक्षा संबंधों को मजबूत करने के लिए अमेरिकी सांसदों ने पेश किया संशोधन विधेयक

अमेरिका-भारत संबंधों पर केंद्रित यह विधेयक नई दिल्ली को संकेत देता है कि वाशिंगटन एक विश्वसनीय और भरोसेमंद रक्षा साझेदार है।

★प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगले महीने होने वाली संभावित अमेरिका यात्रा से पहले प्रभावशाली अमेरिकी सांसदों ने एक संशोधन विधेयक पेश किया है जिसके कांग्रेस से पारित होने पर भारत-अमेरिका रक्षा संबंधों का स्तर ठीक वैसा हो जाएगा जैसा अमेरिका और उसके नाटो सहयोगियों के बीच है।
★ कांग्रेस सदस्य जॉर्ज होल्डिंग, एड रॉयस, एलियट एंजेल और भारतीय-अमेरिकी एमी बेरा द्वारा लाया गया संशोधन विधेयक 11 मई को नियम संबंधी सदन समिति के समक्ष पेश किया गया।

NSG में भारत की सदस्यता: भारत ने आधिकारिक तौर पर दिया प्रेजेंटेशन

भारत ने एनएसजी सदस्‍यता के लिए अधिकारिक तौर पर प्रेजेंटेशन दिया है।
★वहीँ चीन इस मुद्दे पर पाकिस्‍तान को समर्थन दे रहा है। उसका मानना है कि अगर एनएसजी में प्रवेश मिले तो दोनों को मिले या फिर किसी को नहीं। भारत को रोकने के लिए चीन और पाकिस्‍तान मिलकर कोशिशें कर रहे हैं।

मेड इन इंडिया 'स्पेस शटल

  • भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ‘स्पेस शटलके प्रक्षेपण की तैयारी कर रहा है।
  • यह परियोजना पूरी तरह मेड-इन-इंडियाहै। 
  • एक एसयूवी जितने वजन और आकार वाले इस यान को श्रीहरिकोटा में अंतिम रूप दिया जा रहा
  • रीयूजेबल लॉन्च व्हीकल

भारत-बांग्लादेश के बीच हुआ परमाणु समझौता, आपसी संबंध और मजबूत

★भारत ने बांग्लादेश के साथ अपने संबंधों को नई ऊंचाई देते हुए उसके साथ परमाणु करार किया है। भारत द्वारा उठाया गया ऐसा कदम न सिर्फ बांग्लादेश के साथ संबंधों को और मजबूती देगा, बल्कि 21वीं सदी में ऊर्जा और सुरक्षा के क्षेत्र के लिए भी महत्वपूर्ण है। दोनों देश राजनीतिक तौर पर जुड़े हुए हैं,सुरक्षा के मुद्दे पर संवेदनशील हैं और आर्थिक सहयोगी भी हैं।

ISRO रचेगा इतिहास, पहली बार लॉन्च करेगा स्वदेशी स्पेस शटल

 भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) अपने अब तक के सफर में पहली बार एक ऐसी अंतरिक्षीय उड़ान भरने जा रहा है, जो इतिहास के पन्नों में दर्ज होगी. भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी ‘स्पेस शटल’ के स्वदेशी स्वरूप के पहले प्रक्षेपण के लिए तैयार है. यह पूरी तरह से मेड-इन-इंडिया प्रयास है.

 =>श्रीहरिकोटा में दिया जा रहा है अंतिम रूप :-

★एक एसयूवी वाहन के वजन और आकार वाले एक द्रुतग्रामी यान को श्रीहरिकोटा में अंतिम रूप दिया जा रहा है. इसके बाद प्रक्षेपण से पहले की उल्टी गिनती शुरू हो जाएगी.

केरल में टाइटेनियम स्पॉन्ज प्लांट चालू

केरल में टाइटेनियम स्पॉन्ज प्लांट चालू होने के बाद अब इसरो को रॉकेट बनाने के लिए जरूरी टाइटेनियम के लिए विदेशों पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा.

=>परिप्रेक्ष्य :-
★ यह दिसंबर, 2010 की बात है. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) क्रिसमस के दिन जीएसएलवी रॉकेट के जरिए जीसेट-5पी सेटेलाइट छोड़ने की तैयारी कर रहा था. जैसे-जैसे यह दिन नजदीक आ रहा था, परियोजना से जुड़े वैज्ञानिकों की बेचैनी बढ़ती जा रही थी. इसकी वजह भी थी. वे इसी साल अप्रैल में एक जीएसएलवी रॉकेट को लॉन्च होने के कुछ समय बाद ही आसमान में फटते हुए देख चुके थे.