स्मॉग का 17 साल का रिकॉर्ड टूटा:

क्यों है खबरों में :

  • राजधानी दिल्ली में प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है। स्वास्थ्य के लिए आपातकाल जैसी स्थिति आ गई है। सीएसई की रिपोर्ट में बताया गया है कि प्रदूषण की स्थिति काफी खतरनाक है, ऐसे में बच्चों को घरों के अंदर रखने की जरूरत है।
  • दिल्ली में प्रदूषण कम करने के लिए तत्काल कड़े कदम उठाए जाने की जरूरत है। यदि समय रहते ऐसे कदम नहीं उठाए गए तो स्मॉग की स्थिति और बुरी हो सकती है।
  •  नासा की वेबसाइट में पंजाब, हरियाणा व उत्तर प्रदेश में पराली जलाने में दीपावली के बाद बढ़ोतरी देखी गई है। दीपावली के बाद इसका भी राजधानी में असर है। ऐसे में स्कूल बंद कर देने चाहिए।

What is SMOG:

  • हिंदी में धुआँसा या धूम कोहरा कहते हैं, वायु प्रदूषणकी एक अवस्था है।smog
  • बीसवीं सदी के प्रारंभ में एक मिश्र शब्द स्मॉग (स्मोक+फॉग=स्मॉग) द्वारा धुएँ और कुहासे की मिश्रित अवस्था को इंगित किया गया।[
  • धूल, धुआँ और कुहासा का मिश्रित शब्द स्वरूप ही हिंदी में धुआँसा कहलाता है।
  • गाड़ियों और औद्योगिक कारखानों से निकले धुएँ में उपस्थित राख, गंधक व अन्य हानिकारक रसायन जब कुहरे के संपर्क में आते हैं तब धुआँसे के रूप में वायु प्रदूषण जनित अनेकों बीमारियों का कारण बन जाते हैं।
  • स्मॉग में सूक्ष्म पर्टिकुलेट कण, ओजोन, नाइट्रोजन मोनोऑक्साइड और सल्फर डाई ऑक्साइड मौजूद होते हैं। इसमें में धूल और धातु के बहुत छोटे कण होते हैं। ये इतने छोटे होते हैं कि आखों से देखपाना आसान नहीं होता। सांस के माध्यम से ये कण हमारे फेफड़ों में पहुंचकर नुकसान पहुंचाते हैं। 

Why so much smog in North India:

खेतों में पराली जलाया जाना राजधानी में स्मॉग का बड़ा कारण है

Health effects :

  • इस वातावारण में ज्यादा देर तक रहने से य़े समस्याएं मुख्य रूप से होने लगती हैं
  • सांस फूलने लगना
  • खांसी और जुकाम
  • सीने में दर्द होना
  • आंखों में जलन होना