PIB (Press Information Bureau)

UPSC / State PSC की तैयारी करने वाले उम्मीदवारों को PIB की जरुरत क्यों ?

भारत सरकार के विभिन्न अंगों यथा – विधायिका, कार्यपालिका और न्यायपालिका से सम्बंधित गतिविधियों की प्रामाणिक सूचना देने के लिए सरकार द्वारा PIB की स्थापना की गयी.

भारत सरकार की विभिन्न नीतियों, विधिक- कानूनों, उसके क्रिया- कलापों, पडोसी एवं अन्य देशों के साथ भारत के संबंधों और समझौतों, नयी- नयी पहलों को PIB के माध्यम से जनता तक पहुँचाया जाता है.

सिविल सेवकों की भर्ती के लिए आयोजित होने वाली सिविल सेवा की विभिन्न परीक्षाओं जैसे UPSC और स्टेट PCS द्वारा आयोजित राज्य स्तरीय परीक्षाओं में इन सूचनाओं का महत्त्व अध्याधिक बढ़ जाता है.

ऐसे में सिविल सेवा परीक्षाओं की तैयारी में PIB के महत्त्व को नकारा नहीं जा सकता. #GSHindi आप सभी सिविल सेवा के अभ्यर्थियों के लिए PIB के रूप में एक नया सेक्शन शुरू करने जा रहा है. यहाँ पर आपको PIB के महत्वपूर्ण आर्टिकल के अपडेटस रेगूलर बेस पर प्राप्त होते रहेंगे. तो PIB के updates पाने के लिए हमसे जुड़े रहिये.


 

पीएसएलवी ने सफलतापूर्वक एक साथ 31 सैटेलाइट लांच किया

    भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के ध्रुवीय सेटेलाइट लांच व्हीकल ने अपने 42वें उड़ान में सफलतापूर्वक 710 किलोग्राम का कार्टोसैट-2 श्रृंखला का दूर-संवेदी उपग्रह 30 सहयात्री उपग्रहों के साथ श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से सफलतापूर्वक लांच किया। इसे पीएसएलवी-सी 40 नाम दिया गया है।  

अखिल भारतीय व्हिप सम्मेलन | All India Whip Conference

    18वें अखिल भारतीय व्हिप सम्मेलन का उदयपुर, राजस्थान में समापन
    सम्मेलन आयोजित करने का मूल उद्देश्य संसदीय लोकतंत्र के विभिन्न पक्षों पर चर्चा करना है जो कि मौजूदा विकल्पों में शासन का सबसे अच्छा स्वरूप है।  
What is Whip in parliamentary system:
    व्हिप यानि सचेतक तीन तरह की भूमिका का निर्वहन करते हैं। वे निगरानी, संचालन और प्रोत्साहन का काम करते हैं।
 

भारत नेट चरण-। : ध्‍यानपूर्वक बनाई गई योजना तथा धरातल पर कार्यान्‍वयन की ओर ध्‍यान केंद्रित करने से लक्ष्‍य प्राप्‍ति


In news
सरकार ने घोषित अंतिम तिथि 31 दिसम्‍बर, 2017 के अनुसार उच्‍च गति वाले ऑप्‍टिकल फाइबर नेटवर्क के साथ पूरे देश में एक लाख से अधिक ग्राम पंचायतों को जोड़कर भारत नेट के अंतर्गत परियोजना का पहला चरण पूरा करके एक महत्‍वपूर्ण उपलब्‍धि हासिल कर ली है। चरण -1 के तहत तैयार भारतनेट नेटवर्क के अंतर्गत 2.5 लाख गांव में उच्‍च गति की ब्रॉड बैंड सेवाएं उपलब्‍ध करवाने की व्‍यवस्‍था है, जिससे 200 मिलियन से भी अधिक ग्रामीण भारतीय लाभान्‍वित होंगे।
What is BHARAT NET

भारतीय दिवाला एवं दिवालियापन बोर्ड (कॉरपोरेट व्यक्तियों के लिए दिवाला समाधान प्रक्रिया) नियमन, 2016 और भारतीय दिवाला एवं दिवालियापन बोर्ड (कॉरपोरेट व्यक्तियों के लिए फास्ट ट्रैक दिवाला समाधान प्रक्रिया) नियमन, 2017 में संशोधन

    भारतीय दिवाला एवं दिवालियापन बोर्ड (आईबीबीआई) ने 31 दिसम्बर, 2017 को (i) भारतीय दिवाला एवं दिवालियापन बोर्ड (कॉरपोरेट व्यक्तियों के लिए दिवाला समाधान प्रक्रिया) नियमन, 2016 और भारतीय दिवाला एवं दिवालियापन बोर्ड (कॉरपोरेट व्यक्तियों के लिए फास्ट ट्रैक दिवाला समाधान प्रक्रिया) नियमन, 2017 में संशोधन कर दिए हैं।

ई-संवाद पोर्टल

    इस पोर्टल को महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने विकसित किया है। 
    महिला एवं बाल विकास मंत्रालय से एनजीओ और सिविल सोसायटी के संवाद के लिए 
    ई-संवाद पोर्टल के माध्यम से एनजीओ और सिविल सोसायटी अपने सुझाव, शिकायत व प्रतिक्रिया दे सकते हैं। मंत्रालय के उच्च अधिकारी एनजीओ को उनके द्वारा दिए गए सुझावों का जवाब देंगे।
 

Important for UPSC PRLEIMS

 मानसिक विकार


Some Fact
    विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन द्वारा वर्ष 2001 में जारी की गई विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य रिपोर्ट के अनुसार, यह अनुमान लगाया गया है कि चार परिवारों में से एक परिवार का कम से कम एक सदस्‍य वर्तमान में मानसिक और व्‍यावहारिक विकार से पीडि़त है।

भारत के लिए मिथनोल अर्थव्यवस्थाः ऊर्जा सुरक्षा, मेक इन इंडिया तथा शून्य कार्बन प्रभाव


भारत में मेथनोल अर्थव्यवस्था पर नोट इस प्रकार हैः
    भारत को वर्तमान में प्रतिवर्ष 2900 करोड़ लीटर पेट्रोल और 9000 करोड़ लीटर डीजल की आवश्‍यकता है, भारत विश्‍व में छठा बड़ा उपभोक्‍ता है यह खपत वर्ष 2030 तक दोगुनी हो जाएगी और भारत तीसरा बड़ा उपभोक्‍ता बन जाएगा। कच्चे तेल के लिए हमारा आयात बिल लगभग 6 लाख करोड़ रुपये है।