आयूष मंत्रालय ने आदमकद शुभंकरों के जरिए योग को लोकप्रिय बनाने के लिए जागरूकता अभियान शुरू किया

 

Ø  भारत सरकार के अयूष मंत्रालय के अंतर्गत केंद्रीय योग और प्राकृतिक चिकित्सा अनुसंधान परिषद (सीसीआरवाईएन) ने आगामी अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (21 जून) को देखते हुए शुभंकरों और फ्लैश मोब्स के जरिए योग की लोकप्रियता बढ़ाने, विशेषकर उसे युवाओं में लोकप्रिय बनाने के लिए एक जागरूकता अभियान शुरू किया है। 

Ø  आकर्षक शुभंकर अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के प्रति जागरूकता बढ़ाने में मदद करते हैं। सार्वजनिक स्थलों, विशेषकर मॉल्स, इवेंट्स और मनोरंजनात्मक पर्यटक स्थलों पर लगाए गए शुभंकर परिवारों के साथ जोड़े गए हैं, जो अतिरिक्त मनोरंजन और परस्पर क्रियाशीलता के जरिए जागरूकता पैदा करते हैं। 

पंचायती राज से विकास लक्ष्य को हासिल करने के लिए

पंचायती राज व्यवस्था स्थानीय स्वशासन का एक विशिष्ट स्वरूप है। हमारे यहां पंच-परमेश्वर की अवधारणा रही है और हमारी संस्कृति में इसकी जड़ें काफी गहरी हैं। औपनिवेशिक शासन ने हालांकि इस पर भी प्रतिकूल प्रभाव डाला। लेकिन स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद संविधान (73वां संशोधन) अधिनियम 1992 के लागू होने से ग्रामीण क्षेत्रों में तेजी से सामाजिक-आर्थिक विकास की जमीन तैयार हुई। 24 अप्रैल को यह ऐतिहासिक संविधान संशोधन लागू हुआ था, उसी के उपलक्ष्य में यह दिन राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के रूप में मनाया जाता है, ताकि सहभागी स्थानीय स्वशासन के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को मजबूती दी जा सके

अभिवृति – मूल्य – मान्यतायें - परम्परायें

प्रश्न -(UPSC 2016)

¨जीवन, कार्य, अन्य व्यक्तिओं एवम् समाज के प्रति हमारी अभिवृतियां आमतौर पर अनजाने में परिवार एवम् उस सामाजिक परिवेश द्वारा रूपित हो जाती हैं जिसमें हम बड़े होते हैं|

¨अनजाने में प्राप्त इनमें से कुछ अभिवृतियां एवम मूल्य अक्सर आधुनिक लोकतंत्र एवम् समतावादी समाज के नागरिकों के लिए अवांछनीय होते हैं|

¨आज के शिक्षित भारतीओं में विधमान ऐसे अवांछनीय मूल्यों की विवेचना कीजिये?

विधि एवम आचारनीति

•प्रश्न:- (UPSC 2016)

•विधि एवम आचारनीति मानव आचरण को नियंत्रित करने वाले दो उपकरण माने जाते हैं ताकि आचरण को सभ्य सामाजिक अस्तित्व के लिए सहायक बनाया जा सके |

१ चर्चा कीजिये कि वे इस उद्देश्य की किस प्रकार पूर्ति करते हैं |

२.उदाहरण देते हुये यह बताइये ये दोनों अपने उपागमों में किस प्रकार एक दूसरे से भिन्न हैं |

Watch discussion@

 

40 फीसदी से ज्यादा RTI आवेदन बिना कोई वजह बताए रद्द किए गए : रिपोर्ट

सूचना का अधिकार कानून (आरटीआई) के तहत रहस्यमयी कारणों से रद्द होने वाले आवेदनों की संख्या काफी ज्यादा है केंद्रीय सूचना आयोग की सालाना रिपोर्ट के मुताबिक:

परियोजनाओं को मंजूरी देने के दौरान इसके पर्यावरण पर पड़ने वाले प्रभावों की अनदेखी: CAG

Ø  नियंत्रक और महालेखापरीक्षक (सीएजी) ने परियोजनाओं को पर्यावरण मंजूरी देने में कई खामियां पाई हैं.

Ø  संसद में पेश सीएजी की रिपोर्ट में कहा गया है कि पर्यावरण मंजूरी दिए जाने से पूर्व इन परियोजनाओं के प्रभावों का सही मूल्यांकन नहीं किया जा रहा है.

Ø  साथ ही पर्यावरण मंत्रालय परियोजना को जिन शर्तों के आधार पर मंजूरी देता है, कंपनियां उनका भी पालन नहीं करती. रिपोर्ट में सरकार की ओर से परियोजनाओं की निगरानी के लिए पुख्ता तंत्र नहीं होने की भी बात कही है.

आधार कार्ड की जानकारी लीक होने का खतरा कायम

Context

हाल में एक्सिस बैंक से आधार का बायोमेट्रिक डेटा चोरी हो गया। इसके बाद प्राधिकरण ने एक्सिस बैंक के खातों के आधार पर लेन-देन बंद कर दिया था। यह एक नमूना है, जिसमें एहतियाती कदम उठा लिए गए लेकिन, जब आधार नंबर की संख्या 131 करोड़ तक पहुंच जाएगी और केंद्र व राज्य सरकार की सभी योजनाओं को इससे जोड़ दिया जाएगा तब डेटा सुरक्षा की रोजाना की चुनौती बड़ी हो जाएगी।