दिल्ली : 2016 में प्रत्येक दिन दुष्कर्म के छह और छेड़छाड़ के 12 मामले दर्ज

In news:

दिल्ली में अपराध से जुड़े आंकड़े अभी भी सरकार के लिए सबसे बड़ी चुनौती बने हुए हैं. 2016 में अपराध के कुल 2,09,519 मामले दर्ज किए गए. इनमें 73.29 फीसदी मामलों का समाधान नहीं हुआ है. 2015 में यह आंकड़ा 72.78 फीसदी था. ये बातें सोमवार को दिल्ली पुलिस द्वारा जारी की गई वार्षिक रिपोर्ट में सामने आई हैं.

न्यायपालिका के आंतरिक संकट से विवाद का खतरा

#Bhaskar _editorial

In news:

कोलकाता हाईकोर्ट के जज न्यायमूर्ति सीएस कर्णन को सुप्रीम कोर्ट की सात सदस्यीय पीठ ने अवमानना का नोटिस देकर लोकतंत्र की एक महत्वपूर्ण संस्था में अनुशासन कायम करने की दिशा में बड़ा कदम उठाया है

साल भीतर प्रमाणित करें मोबाइल उपभोक्ताओं की पहचान : SC

खबरों में

फर्जी मोबाइल उपभोक्ताओं पर लगाम कसने के मकसद से सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को एक साल के भीतर ऐसा प्रभावी तंत्र बनाने के लिए कहा है जिससे सौ करोड़ से ज्यादा मौजूदा और भावी मोबाइल उपभोक्ताओं की पहचान प्रमाणित की जा सके।

लोकतंत्र सूचकांक' में भारत वर्ष 2015 के 35वें स्थान से उछलकर 32वें स्थान पर

Why in news:

वर्ष 2016 के 'लोकतंत्र सूचकांक' में भारत वर्ष 2015 के 35वें स्थान से उछलकर 32वें स्थान पर आ गया है। यह सूचकांक द इकनॉमिस्ट समाचार पत्र की इकनॉमिक इंटेलिजेंस यूनिट (ईआईयू) तैयार करती है। 

रेलवे स्टाफ की असफलता की वजह से होते हैं सबसे ज्यादा हादसे: रिपोर्ट

  • रेल मंत्रालय के समक्ष पेश की गई सेफ्टी रिपोर्ट में कहा गया है कि रेल हादसों और ट्रेनों के पटरी से उतरने के लिए रेलवे स्टाफ की लापरवाही जिम्मेदार है।
  • इन हादसों में बड़े पैमाने पर लोगों की जानें गई हैं और तमाम लोग घायल हुए हैं
  • समिति ने पिछले रेल हादसों के डेटा जुटाए और उनका विश्लेषण किया।
  •  हाल ही में रेलवे को सौंपी गई इस रिपोर्ट में बताया गया है कि अधिकतर 50 से 60 पर्सेंट रेल हादसों के पीछे मानवीय चूक वजह होती है। सबसे ज

राजनीतिक दलों की 69 प्रतिशत आय अज्ञात स्रोतों से:ADR रिपोर्ट

  • एसोसिएशन फोर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) की एक रिपोर्ट के मुताबिक राजनीतिक दलों को 2004-05 और 2014-15 के बीच अज्ञात स्रोतों से 7,833 करोड़ रुपए मिले जो उनकी कुल आय का 69 प्रतिशत है।
  •  कांग्रेस और भाजपा इस तरह के स्रोतों से अधिकतम धन हासिल करने वाली राजनीतिक पार्टी हैं।
  • एडीआर की इस रिपोर्ट के मुताबिक इस अवधि में राष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय राजनीतिक दलों को कुल 11,367.34 करोड़ रुपये आय हासिल हुई।
  • ज्ञात दानकर्ताओं से