विधि एवम आचारनीति

•प्रश्न:- (UPSC 2016)

•विधि एवम आचारनीति मानव आचरण को नियंत्रित करने वाले दो उपकरण माने जाते हैं ताकि आचरण को सभ्य सामाजिक अस्तित्व के लिए सहायक बनाया जा सके |

१ चर्चा कीजिये कि वे इस उद्देश्य की किस प्रकार पूर्ति करते हैं |

२.उदाहरण देते हुये यह बताइये ये दोनों अपने उपागमों में किस प्रकार एक दूसरे से भिन्न हैं |

Watch discussion@

 

40 फीसदी से ज्यादा RTI आवेदन बिना कोई वजह बताए रद्द किए गए : रिपोर्ट

सूचना का अधिकार कानून (आरटीआई) के तहत रहस्यमयी कारणों से रद्द होने वाले आवेदनों की संख्या काफी ज्यादा है केंद्रीय सूचना आयोग की सालाना रिपोर्ट के मुताबिक:

परियोजनाओं को मंजूरी देने के दौरान इसके पर्यावरण पर पड़ने वाले प्रभावों की अनदेखी: CAG

Ø  नियंत्रक और महालेखापरीक्षक (सीएजी) ने परियोजनाओं को पर्यावरण मंजूरी देने में कई खामियां पाई हैं.

Ø  संसद में पेश सीएजी की रिपोर्ट में कहा गया है कि पर्यावरण मंजूरी दिए जाने से पूर्व इन परियोजनाओं के प्रभावों का सही मूल्यांकन नहीं किया जा रहा है.

Ø  साथ ही पर्यावरण मंत्रालय परियोजना को जिन शर्तों के आधार पर मंजूरी देता है, कंपनियां उनका भी पालन नहीं करती. रिपोर्ट में सरकार की ओर से परियोजनाओं की निगरानी के लिए पुख्ता तंत्र नहीं होने की भी बात कही है.

आधार कार्ड की जानकारी लीक होने का खतरा कायम

Context

हाल में एक्सिस बैंक से आधार का बायोमेट्रिक डेटा चोरी हो गया। इसके बाद प्राधिकरण ने एक्सिस बैंक के खातों के आधार पर लेन-देन बंद कर दिया था। यह एक नमूना है, जिसमें एहतियाती कदम उठा लिए गए लेकिन, जब आधार नंबर की संख्या 131 करोड़ तक पहुंच जाएगी और केंद्र व राज्य सरकार की सभी योजनाओं को इससे जोड़ दिया जाएगा तब डेटा सुरक्षा की रोजाना की चुनौती बड़ी हो जाएगी।

द्वितीय प्रशासनिक सुधार आयोग : भ्रष्टाचार भाग 4

"एथिक्स" के प्रश्न पत्र की तैयारी की शुरुआत ARC- II (प्रशासनिक सुधार आयोग) की रिपोर्ट 4 - शासन में नैतिकता" से ही होती है।
यदि कोई प्रतिभागी ARC की रिपोर्ट को पढ़े बिना ही एथिक्स की so called मोटी- मोटी बुक्स पढ़ ले तो उसकी तैयारी अधूरी ही कही जाएगी क्योंकि बेसिक कांसेप्ट और सोच (एटीट्यूड) का निर्माण ARC की रिपोर्ट पढ़ के ही होता है।
चूँकि ARC-II की 4th रिपोर्ट अपने आप में ही मोटी है, ऐसे में GSHindi ने इसे आसान शब्दों में ढाल कुछ videos बनाकर अपने youtube चैनल पर शेयर किये हैं।  

Topic: भ्रष्टाचार सरकारी राजकोष का दुरूपयोग,प्रशासनिक अदक्षता PART IV

द्वितीय प्रशासनिक सुधार आयोग : भ्रष्टाचार भाग 3

"एथिक्स" के प्रश्न पत्र की तैयारी की शुरुआत ARC- II (प्रशासनिक सुधार आयोग) की रिपोर्ट 4 - शासन में नैतिकता" से ही होती है।
यदि कोई प्रतिभागी ARC की रिपोर्ट को पढ़े बिना ही एथिक्स की so called मोटी- मोटी बुक्स पढ़ ले तो उसकी तैयारी अधूरी ही कही जाएगी क्योंकि बेसिक कांसेप्ट और सोच (एटीट्यूड) का निर्माण ARC की रिपोर्ट पढ़ के ही होता है।
चूँकि ARC-II की 4th रिपोर्ट अपने आप में ही मोटी है, ऐसे में GSHindi ने इसे आसान शब्दों में ढाल कुछ videos बनाकर अपने youtube चैनल पर शेयर किये हैं।  

Topic: भ्रष्टाचार सरकारी राजकोष का दुरूपयोग,प्रशासनिक अदक्षता PART III

द्वितीय प्रशासनिक सुधार आयोग : भ्रष्टाचार भाग 2

"एथिक्स" के प्रश्न पत्र की तैयारी की शुरुआत ARC- II (प्रशासनिक सुधार आयोग) की रिपोर्ट 4 - शासन में नैतिकता" से ही होती है।
यदि कोई प्रतिभागी ARC की रिपोर्ट को पढ़े बिना ही एथिक्स की so called मोटी- मोटी बुक्स पढ़ ले तो उसकी तैयारी अधूरी ही कही जाएगी क्योंकि बेसिक कांसेप्ट और सोच (एटीट्यूड) का निर्माण ARC की रिपोर्ट पढ़ के ही होता है।
चूँकि ARC-II की 4th रिपोर्ट अपने आप में ही मोटी है, ऐसे में GSHindi ने इसे आसान शब्दों में ढाल कुछ videos बनाकर अपने youtube चैनल पर शेयर किये हैं।  

Topic: भ्रष्टाचार सरकारी राजकोष का दुरूपयोग,प्रशासनिक अदक्षता PART II

द्वितीय प्रशासनिक सुधार आयोग : भ्रष्टाचार भाग 1

"एथिक्स" के प्रश्न पत्र की तैयारी की शुरुआत ARC- II (प्रशासनिक सुधार आयोग) की रिपोर्ट 4 - शासन में नैतिकता" से ही होती है।
यदि कोई प्रतिभागी ARC की रिपोर्ट को पढ़े बिना ही एथिक्स की so called मोटी- मोटी बुक्स पढ़ ले तो उसकी तैयारी अधूरी ही कही जाएगी क्योंकि बेसिक कांसेप्ट और सोच (एटीट्यूड) का निर्माण ARC की रिपोर्ट पढ़ के ही होता है।
चूँकि ARC-II की 4th रिपोर्ट अपने आप में ही मोटी है, ऐसे में GSHindi ने इसे आसान शब्दों में ढाल कुछ videos बनाकर अपने youtube चैनल पर शेयर किये हैं।  

Topic: भ्रष्टाचार सरकारी राजकोष का दुरूपयोग,प्रशासनिक अदक्षता PART I

विचाराधीन कैदियों की संख्या: रिहाई प्रक्रिया तेज करना जरूरी

देश की जेलों में बंद क्षमता से अधिक कैदियों की संख्या केन्द्र और राज्य सरकारों के समक्ष बहुत बड़ी समस्या बनती जा रही है। इनमें विचाराधीन कैदियों की संख्या बहुत अधिक है। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए केन्द्र सरकार विभिन्न अपराधों के आरोपों में लंबे समय से जेल में बंद उन विचाराधीन कैदियों को रिहा करना चाहती है जो निर्धारित सज़ा की आधे से अधिक अवधि जेल में गुजार चुके हैं।

एक नजर आंकड़ो पर

भारत में रहते हैं सबसे अधिक रिश्वतखोरः 'ट्रांसपेरेन्सी इंटरनैशनल

- एशिया प्रशांत क्षेत्र में रिश्वत के मामले में भारत शीर्ष पर है। हाल ही में जारी एक सर्वे में कहा गया है कि यहां सार्वजनिक सेवाओं के लिए लोगों को किसी न किसी रूप में रिश्वत देनी पड़ती है।

-अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार निरोधक अधिकार समूह 'ट्रांसपेरेन्सी इंटरनैशनल' के सर्वे में शामिल 69 फीसदी भारतीयों ने माना कि उन्हें घूस देनी पड़ी है, जबकि वियतनाम के 65 फीसदी, पाकिस्तान के 40 फीसदी और चीन के 26 फीसदी लोगों ने रिश्वत देने की बात कबूली।