सिनेमा हॉल में राष्ट्रगान के वक्त खड़ा होने का आदेश थोपना उचित नहीं : SC

सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ ने सिनेमा हॉल में राष्ट्रगान के वक्त खड़े होने के आदेश का विरोध किया है. इस मामले की सुनवाई कर रही तीन सदस्यीय खंडपीठ के सदस्य जस्टिस चंद्रचूड़ ने कहा कि यह मानना गलत होगा कि जो सिनेमा हॉल में राष्ट्रगान के वक्त खड़ा नहीं होते वे देशभक्त नहीं हैं. राष्ट्रगान अनिवार्य करने के मामले में यह नया मोड़ है.
    सरकार से यह भी कहा कि हर मामले को अदालत पर छोड़ देना ठीक नहीं है. उनका कहना था कि सिनेमा हॉल में लोग मनोरंजन के लिए जाते हैं, इसलिए वहां देशभक्ति के पैमाने की सीमा तय होनी चाहिए. 

PENCIL PORTAL

Child Labour & Government’s effort

बच्चे देश के अमूल्य निधि होते है। देश के बेहतर भविष्य के लिए हमें बच्चों का सही ढंग से पालन-पोषण करना चाहिए। 2001 की जनगणना की तुलना में 2011 में बाल श्रमिकों की संख्या में कमी आई है। परन्तु उनके बचपन को सुरक्षित रखने के लिए बहुत कुछ किए जाने की आवश्यकता है। इस समस्या के बहुआयामी स्वरूप को देखते हुए सरकार ने बाल श्रम को चरणबद्ध तरीके से समाप्त करने के लिए एक विस्तृत योजना तैयार की है। 
    सरकार ने बाल श्रम (निषेध और संशोधन) अधिनियम, 2016 पारित किया है, जिसे 1 सितम्बर, 2016 से लागू किया गया है।