ऑपरेशन मेघदूत: 1984 में सियाचिन पर कब्जा करने के लिए हुआ ऑपरेशन

 33 साल पहले भारतीय सेना के इस बेहद अहम ऑपरेशन को शौर्य और पराक्रम के मिसाल के तौर पर देखा जाता है. वर्ष 1984 में सियाचिन ग्लैशियर को फतह करने के उद्देश्य से इस ऑपरेशन को लॉन्च किया गया था.

  • सियाचिन में भारतीय फौजों की किलेबंदी इतनी मजबूत है कि पाकिस्तान चाह कर भी इसमें सेंध नहीं लगा सकता. दरअसल, ये सफलता है 1984 के उस मिशन मेघदूत की, जिसे भारतीय सेना ने सियाचिन पर कब्जे के लिए शुरू किया था.

भारतीय सेना का अहम ऑपरेशन

जानें अफगनिस्तान पर गिराए गए 'मदर ऑफ ऑल बम' के बारे में....

★ अमेरिका ने पूर्वी अफगानिस्तान में एक विशाल बम गिराया है. अमेरिका ने इस्लामिक स्टेट आतंकियों के ठिकानों पर बम गिराया.

★ इस विशाल बम का नाम GBU-43 बताया जा रहा है. इस बम का निर्माण अमेरिकी सेना के अधिकारी अलबर्ट एल. वीमोर्ट्स ने किया था.

भारत का इजरायल से अब तक का सबसे बड़ा रक्षा समझौता, मिसाइल डिफेंस सिस्टम खरीदेगा

★ इजरायल ने भारत के साथ 2 बिलियन डॉलर (करीब 12 हजार करोड़ रुपए) की डिफेंस डील पर साइन किए हैं।
★ इसके तहत इजरायल भारत को मिसाइल डिफेंस सिस्टम देगा। इजरायल एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज (IAI) ने इस बात की जानकारी दी।

★ इसके जरिए दुश्मनों के एयरक्राफ्ट, मिसाइल और ड्रोन्स को 70 किमी के दायरे में मार गिराया जा सकता है।
 इस डील का मकसद भारतीय प्रधानमंत्री के इजरायल दौरे से पहले दोनों देशों के बीच सामरिक रिश्तों को मजबूती देना है। 

थ्री-पैरेंट बेबी तकनीक

  • दुनिया के पहले थ्री-पैरेंट बेबी (तीन अभिभावकों की संतान) के जन्म की आइवीएफ तकनीक सार्वजनिक हो गई है। वैज्ञानिकों ने इस तकनीक से एक स्वस्थ बच्चे को जन्म देने में सफलता हासिल की।
  • वैज्ञानिकों के मुताबिक, बच्चे के जन्म में माइटोकॉन्ड्रियल रिप्लेसमेंट थेरेपी (एमआरटी) की प्रक्रिया अपनाई गई थी। इसकी मदद से माइटोकॉन्ड्रिया की गंभीर खामी के कारण होने वाले लीफ सिंड्रोम से बच्चे को बचाया जा सका। 
  • वैज्ञानिकों ने बताया कि माइटोकॉन्ड्रिया को कोशिकाओं का पावर हाउस कहा जाता है। बच्चे की मां के माइटोकॉन्ड्रिया में कुछ खामी है। यही खामी गर्भधारण के बाद बच्चे में जानल

जर्मनी में संचालित होगी हाइड्रोजन से चलने वाली 'जीरो एमिशन ट्रेन'

  • पहली 'जीरो एमिशन' ट्रेन के साथ जर्मनी दुनिया को एक नई राह दिखाने वाला है
  • हाइड्रोजन से चलने वाली और धुएं के बजाय पानी छोड़ने वाली इस ट्रेन को जर्मनी अपने यहां चल रही 4000 डीजल ट्रेनों का विकल्प बनाने की तैयारी में है
  • ऑटोमोबाइल के क्षेत्र में अपनी उपलब्धियों के लिए चर्चित जर्मनी एक और नई राह बनाने की तैयारी में है. वह जल्द ही दुनिया की पहली ज़ीरो एमिशन (कार्बन डाईऑक्साइड उत्सर्जन मुक्त) ट्रेन चलाने वाला है.
  • ‘कोराडिया आईलिंट’ नामक इस ट्रेन को फ्रांसीसी कंपनी अल्सटॉम ने बनाया है.

अंतरिक्ष में बड़ी छलांगः पहली बार सैटेलाइट छोड़कर वापस आया रॉकेट का दुबारा यूज

★ इतिहास में पहली बार किसी रॉकेट को दुबारा यूज किया गया है. टेस्ला के सीईओ एलोन मस्क की स्पेस एजेंसी SpaceX ने पहले से इस्तेमाल किए गए रॉकेट Falcon 9 को दुबारा से स्पेस में भेजा है.

★ यह वही रॉकेट है जो लॉन्च के बाद वापस आ जाता है. यह रॉकेट फ्लोरिडा से लॉन्च किया गया और इसके जरिए SpaceX ने स्पेस के ऑर्बिट में कम्यूनिकेशन सैटेलाइट भेजा है.

DNA बनेगा भविष्य का डाटा बैंक

- वैज्ञानिकों ने डीएनए में कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम, एक लघु फिल्म के साथ कुछ अन्य डेटा संरक्षित किया है। यह प्रगति आने वाले समय में बहुत अधिक कॉम्पैक्ट, बायलॉजिकल स्टोरेज उपकरणों के विकास का वाहक बन सकती है। इन उपकरणों के अगले हजारों वर्ष तक चलने की संभावना है।

- अनुसंधानकर्ताओं के नए अध्ययन में यह बात निकलकर सामने आयी है कि एक मोबाइल पर स्ट्रीमिंग वीडियो के लिए डिजाइन किये गये एल्गोरिदम से डीएनए के पूर्ण स्टोरेज क्षमता का इस्तेमाल किया जा सकता है। उन्होंने दिखलाया है कि ये प्रौद्योगिकी बहुत अधिक विश्वसनीय है।

भारत में मिला दुनिया का सबसे पुराना पौधे जैसा जीवाश्म

- वैज्ञानिकों ने मध्य भारत में लाल शैवाल का 1.6 अरब वर्ष पुराना जीवाश्म खोज निकाला है जो संभवत: धरती पर मौजूद पौधे के रूप में जीवन का सर्वाधिक पुराना सबूत है.

- स्वीडन के म्यूजियम ऑफ नेचुरल हिस्ट्री के शोधकर्ताओं ने इसे मध्य प्रदेश के चित्रकूट में खोजा है.

- इस खोज से पता चलता है कि आधुनिक बहुकोशिकीय जीवन पूर्व की सोच से बहुत पहले ही पनप चुका था.

- धरती पर जीवन के जो सबसे पहले साक्ष्य मिले हैं, वे कम से कम 3.5 अरब वर्ष पुराने हैं. लेकिन ये एकल कोशिका वाले जीवों के हैं.

भारत की अग्नि-5 का असर: चीन अब PAK के साथ बनाएगा बैलेस्टिक मिसाइलें

=>"भारत की अग्नि-5 का असर: चीन अब PAK के साथ बनाएगा बैलेस्टिक मिसाइलें"

-  भारत से मुकाबले के लिए चीन ने पाकिस्तान के साथ बैलेस्टिक मिसाइल बनाने का फैसला किया है। पाकिस्तान के आर्मी चीफ इन दिनों चीन की ऑफिशियल विजिट पर हैं।

◆ पाकिस्तान के साथ मिसाइलें बनाने के चीन के फैसले को भारत की अग्नि-5 से जोड़कर देखा जा रहा है।

Background:- भारत की न्यूक्लियर मिसाइल अग्नि-5 20 मिनट के अंदर पांच हजार किलोमीटर तक जा सकती है। इसकी रेंज में पूरा चीन आता है।

=>क्या है चीन का प्लान...

स्वदेशी सुपर पॉवर ड्रोन ‘भीम’

Ø  भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) खड़गपुर के छात्रों ने देश का स्वदेशी सुपरपावर ड्रोन बनाया है. उन्होंने इसका नाम महाभारत के वीर योद्धा के नाम पर ‘भीम’ रखा है.

Ø  आईआईटी छात्रों द्वारा विकसित यह मानवरहित उपकरण एक मीटर लंबा है जो अत्याधुनिक सुरक्षा व्यवस्था में मदद देने के अलावा कई अनोखी खूबियों से लैस है. शोध छात्रों का दावा है कि अपने जबरदस्त बैटरी बैक-अप की वजह से यह सात घंटे तक उड़ान भर सकता है और एक किमी के दायरे में वाई-फाई जोन बना सकता है.