मुंबई का संकट

#Navbharat_Times

मुंबई में हुई जोरदार बारिश और समुद्री ज्वार ने मिलकर जिस तरह वहां जनजीवन को पूरी तरह ठप कर दिया उससे फिर साफ हुआ कि हमारे महानगर प्रकृति की मार के आगे किस कदर असहाय हैं।

Repeating the past mistakes

जीलैंडिया

  • शोधकर्ताओं के अनुसार, भारत के गोंडवाना क्षेत्र का पांच फीसद हिस्सा भी कभी इस संभावित महाद्वीप का हिस्सा रह चुका है। अगर इसे मान्यता मिलती है तो यह एशिया, यूरोप, अफ्रीका, उत्तरी अमेरिका, दक्षिणी अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और अंटार्कटिका के बाद आठवां महाद्वीप होगा।
  • 94 प्रतिशत समुद्र में डूबे में न्यूजीलैंड और फ्रांस नियंत्रित क्षेत्र न्यू कैलेडोनिया को भी शामिल बताया जा रहा है। 
  • हाल में उपग्रह तकनीक और समुद्र तल के ग्रेविटी मैप में इस बात की पुष्टि हो गई कि यह एकीकृत क्षेत्र है। इसी आधार पर वैज

नदी जोड़ योजना पर पुनर्विचार जरूरी

Jansatta

देश में नदियों को जोड़ने की परियोजना लागू करना ही है और उसकी शुरुआत बुंदेलखंड से होगी जहां केन व बेतवा को जोड़ा जाएगा। असल में आम आदमी नदियों को जोड़ने का अर्थ समझता है कि किन्हीं पास बह रही दो नदियों को किसी नहर जैसी संरचना के माध्यम से जोड़ दिया जाए, जिससे जब एक में पानी कम हो तो दूसरे का उसमें मिल जाए। पहले यह जानना जरूरी है कि असल में नदी जोड़ने का मतलब है, एक विशाल बांध और जलाशय बनाना और उसमें जमा दोनों नदियों के पानी को नहरों के माध्यम से उपभोक्ता तक पहुंचाना।

हमारे शहर विकास की ओर अग्रसर

#Rajasthan Patrika

आज भारतीय शहर की सरकारें अपने नागरिकों को सुविधाएं प्रदान करने के लिए कई लोककल्याणकारी योजनाओं का संचालन कर रही हैं। इन योजनाओं का असर इन शहरों की जीवनशैली पर दिखाई पड़ रहा है। शहर सुविधाओं के मामले में अंतरराष्ट्रीय मापदण्डों के अनुकूल होने को प्रयासरत हैं। क्या ये इसमें सफल होंगे..?