Daily Current Affairs

सैन्य बलों की युद्ध क्षमता बढ़ाने के शेकटकर समिति के सुझाव

- शेकटकर समिति : सरकार द्वारा सैन्य बलों की युद्ध क्षमता बढ़ाने और रक्षा व्यय को पुनः संतुलित करने के लिए लेफ्टिनेंट जनरल डीबी शेकटकर की अध्यक्षता में समिति का गठन किया था।

- समिति यह स्पष्ट कर चुकी है कि यदि अगले पांच वर्ष में उसकी अधिकतर सिफारिशें लागू कर दी जाती हैं तो सरकार अपने वर्तमान खर्च में से 25,000 करोड़ रुपये तक की बचत कर सकती है। इसका इस्तेमाल भारतीय सैन्य बलों की युद्ध क्षमता बढ़ाने में होगा।

- समिति ने भविष्य के संभावित खतरों को भांपकर सिफारिश की हैं।

राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद और चीफ ऑफ स्टाफ समिति का स्थायी चेयरमैन: सैन्य बलों में होगा एक और शीर्ष पद

- भारतीय सैन्य अकादमी (आईएमए) में होने वाली सालाना संयुक्त कमांडर्स कांफ्रेंस में सशस्त्र बलों के लिए जनरल का एक नया पद सृजित जायेगा। राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद और रक्षा मंत्रालय की ओर से चीफ ऑफ स्टाफ समिति के स्थायी चेयरमैन का प्रस्ताव तैयार किया गया है।

- यह पद सेना, नौसेना और वायु सेना के प्रमुख के बराबर होगा।  रक्षा विशेषज्ञों की मानें तो यह कदम देश में उच्च रक्षा प्रबंधन में सुधार की दिशा में अहम कदम साबित होगा।

भारत की 58 फीसद संपत्ति 1 फीसद अमीरों के पासः ऑक्सफैम

- भारत की 58 प्रतिशत संपत्ति पर महज 1 प्रतिशत अमीरों का कब्जा है। यह देश में अमीरी और गरीबी के बढ़ते फासले का संकेत देता है।

- हालांकि पूरी दुनिया की आधी यानी 50 प्रतिशत संपत्ति भी मात्र 1 फीसदी अमीरों के पास है, लेकिन भारत की स्थिति इस मामले में ज्यादा खराब है।

-  अधिकार समूह ऑक्सफैम की तरफ से जारी एक अध्ययन रिपोर्ट के मुताबिक भारत के केवल 57 अरबपतियों के पास कुल मिलाकर 216 अरब डॉलर (14,688 अरब रुपए) की संपत्ति है, जो देश की करीब 70 प्रतिशत आबादी की कुल संपत्ति के बराबर है।

"पासपोर्ट इंडेक्स" :जर्मनी का पासपोर्ट है दुनिया में सबसे प्रभावशाली, भारत 78वें नंबर पर

- भारतीय पासपोर्ट को दुनिया के सबसे प्रभावशाली पासपोर्ट की रैंकिंग में निचले पायदान पर रखा गया है। उसे 78वां स्थान दिया गया है।

- 196 देशों की इस सूची में जर्मनी को शीर्ष जबकि अफगानिस्तान को अंतिम स्थान मिला है।

- "पासपोर्ट इंडेक्स" में जर्मनी 157 वीजा-फ्री स्कोर के साथ शीर्ष पर है। दूसरे स्थान पर सिंगापुर और स्वीडन हैं। इन दोनों देशों का स्कोर 156 है। तीसरे स्थान पर डेनमार्क, फ्रांस, ब्रिटेन और अमेरिका समेत आठ देश हैं। इन सभी का स्कोर 155 है। भारत 48 वीजा-फ्री स्कोर के साथ 78वें स्थान पर है।

रायसीना डायलॉग २017

यह भारत के geo-political और geo-economic परिप्रेक्ष्य को ध्यान में रखते हुए आयोजित की जाती है | इसका पहला भाग २०१६ में आयोजित किया गया था |

प्रधानमन्त्री के भाषण से कुछ अंश :

2050 तक समुद्र में मछलियों से ज्यादा होगा प्लास्टिक कचरा : रिपोर्ट

प्लास्टिक कचरे को रीसाइकिल करने की नई योजना का भारत समेत 40 से ज्यादा देशों के उद्योगपतियों ने समर्थन किया है।

दरअसल, डर इस बात का सता रहा है कि अगर तुरंत कदम नहीं उठाए गए तो 2050 तक समुद्र में मछलियों से ज्यादा प्लास्टिक हो जाएगी।

इस योजना का उद्देश्य पैकेजिंग में इस्तेमाल हो रही कुल प्लास्टिक की रीसाइक्लिंग को मौजूदा 14 प्रतिशत से बढ़ाकर 70 प्रतिशत करना है।

इस योजना को एक रिपोर्ट की शक्ल में विश्व आर्थिक मंच (डब्लूईएफ) और एलन मैकआर्थर फाउंडेशन ने प्रस्तुत किया है। रिपोर्ट के मुताबिक, 20 प्रतिशत प्लास्टिक पैकेजिंग को फिर से इस्तेमाल किया जा सकता है।