Daily Current Affairs

विदेशी निवेश संवर्द्धन बोर्ड को भंग करने की मंजूरी

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने विदेशी निवेश संवर्द्धन बोर्ड (एफआईपीबी) को भंग करने की मंजूरी दी है। इस प्रस्‍ताव में एफआईपीबी को भंग करना और प्रशासनिक मंत्रालयों/विभागों को एफडीआई संबंधी आवेदन की प्रक्रिया के लिए सरकारी अनुमोदन की आवश्‍यकता को खत्‍म करने करना शामिल है।

सेंट्रल रोड फंड ऐक्‍ट, 2000 में संशोधन के जरिये राष्‍ट्रीय जलमार्ग (एनडब्‍ल्‍यू) के विकास एवं रखरखाव के लिए 2.5 प्रतिशत सेंट्रल रोड फंड के आवंटन को मंजूरी दी

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने राष्‍ट्रीय जलमार्ग (एनडब्‍ल्‍यू) के विकास एवं रखरखाव के लिए 2.5 प्रतिशत सेंट्रल रोड फंड के आवंटन के लिए सेंट्रल रोड फंड ऐक्‍ट, 2000 में संशोधन के लिए जहाजरानी मंत्रालय और सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय (एमओआरटीएच) द्वारा संयुक्‍त रूप से तैयार प्रस्‍ताव मंजूरी दे दी है। इस प्रस्‍ताव में राष्‍ट्रीय राजमार्गों के विकास के लिए मुहैया कराई गई हिस्‍सेदारी में कमी की गई है। मंत्रिमंडल ने यह भी निर्देश दिया है कि व्‍यवहार्य राष्‍ट्रीय जलमार्ग परियोजनाओं को लागू करते समय पीपीपी आधार पर हो सकने वाले ऐसे सभी घटकों पर गौर किया जाना चाहिए और सरकारी नि

वस्‍तु और सेवा कर (जीएसटी) से सीमेंट के पैकेट, दवाईयों, स्‍मार्ट फोन और सर्जिकल उपकरणों जैसे चिकित्‍सीय उपकरणों सहित कई वस्‍तुओं पर कर बोझ कम होगा

  • वस्‍तु और सेवा कर (जीएसटी) लागू होने से सीमेंट के पैकेट, दवाईयों, स्मार्ट फोन और सर्जिकल उपकरणों जैसी विभिन्‍न वस्‍तुओं पर कर दर घटने से उपभोक्‍ताओं को लाभ होगा।
  • सीमेंट के पैकेट पर केंद्रीय उत्‍पाद शुल्‍क 12.5 प्रतिशत और 125 रूपये पीएमटी तथा 14.5 प्रतिशत की दर से मानक वैट लगता है। इन दरों पर कुल वर्तमान कर 29 प्रतिशत से अधिक है। अगर इसमें केंद्रीय बिक्री कर (सीएसटी), चुंगी शुल्‍क, प्रवेश कर आदि शामिल करते हैं तो वर्तमान कुल कर 31 प्रतिशत से अधिक होगा। इसके विपरीत सीमेंट के लिए प्रस्‍तावित जी

अफ्री़की विकास बैंक (एएफडीबी) की वार्षिक बैठक के उद्घाटन में प्रधान मंत्री का भाषाण

भारत के अफ्री़का के साथ सदियों से मजबूत रिश्‍ते रहे हैं। ऐतिहासिक रूप से, पश्चिमी भारत, विशेष रूप से गुजरात तथा अफ्री़का के पूर्वी तट के समुदाय एक दूसरे की भूमियों में बसे हुए हैं। ऐसा कहा जाता है कि भारत के सिद्धी (Siddhis) लोग पूर्वी अफ्री़का से आए थे। तटवर्ती केन्‍या में बोहरा समुदाय 12वीं सदी में भारत आए थे। वास्‍कोडिगामा के बारे में कहा जाता है कि वह एक गुजराती नाविक की सहायता से मालिन्‍दी से कालिकट पहुंचे थे। गुजरात के लोगों (dhows) ने दोनों दिशाओं में व्‍यापार किया। समाजों के बीच प्राचीन संपर्कों से भी हमारी संस

GSHINDI PRELIMS CHALLENGE 26 May 2017

1 निम्नलिखित में से गलत कथन का चुनाव करें

  1. प्रतिचक्रवात  का आकार चक्रवातों की तुलना में अपेक्षाकृत अधिक होता है
  2. इसमें वायु केंद्र से बाहर की ओर चलती है तथा उत्तरी गोलार्ध में इनकी दिशा घड़ी की सुइयों के अनुकूल तथा दक्षिणी गोलार्ध में घड़ी की सुइयों के प्रतिकूल होती है
  3. प्रति चक्रवातों में  वाताग्र का निर्माण होता है
  4. इनकी मार्ग तथा दिशा में प्रायः अनिश्चितता होती है

उत्तर-C

2 निम्नलिखित में से गलत कथन का चुनाव करें-