तेल का सियासी मोल

Oil prices going up and host of geopolitical and geoeconomic factors are responsible for this.
#Business standard
Oil Prices around world
इस हफ्ते की शुरुआत में कच्चे तेल का प्रति बैरल मूल्य पिछले दो वर्षों के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया। ब्रेंट क्रूड 64.65 डॉलर प्रति बैरल के भाव पर दर्ज किया गया। न से आए आंकड़े बताते हैं कि तेल आयात में सुस्ती आने से कच्चे तेल के दाम इतना ऊपर चढ़े हैं। बहरहाल इतना तो साफ है कि कच्चे तेल के बाजार में बढ़त का रुख बना हुआ है। 
Causes?

अगले दस साल में भारत बन सकता है तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था

If India continues to maintain recent pace of economic growth it could outspace other economic power house and could be third largest economy
भारत अगर अपने आर्थिक सुधारों की प्रक्रिया को निरंतर बनाये रखता है तो अगले दस वर्षो में वह जापान और जर्मनी को पछाड़कर दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन सकता है। 
    एक अध्ययन के मुताबिक इसके लिए यह आवश्यक है कि भारत अपने सुधारों की दिशा सामाजिक क्षेत्र की तरफ बनाये रखे।

रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा भारत का विदेशी मुद्रा भंडार, 400 अरब डॉलर के पहुंचा पार


भारत का विदेशी मुद्रा भंडार रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है। विदेशी मुद्रा भंडार 400 अरब डॉलर को पार कर गया है। खास तौर से प्रत्यक्ष विदेशी निवेश परियोजनाओं और पोर्टफोलियो में सीधे निवेश से हुआ है। आंकड़ों के मुताबिक, बीते करीब साढ़े तीन साल में विदेशी मुद्रा भंडार में 100 अरब डॉलर की वृद्धि हुई है। खास तौर से पहली तिमाही में विदेशी मुद्रा भंडार में 6.6 अरब डॉलर की बढ़ोतरी देखी गई है।
=>रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा विदेशी मुद्रा भंडार

भारत पेट्रोलियम कार्पोरेशन को महारत्न का दर्जा मिला


भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) को ‘महारत्न’ कंपनी का दर्जा प्रदान किया गया है और बीपीसीएल महारत्न के रूप में सम्मानित की जाने वाली अठवीं कंपनी बन गयी है। 
पीएसयू कंपनियों को तीन कैटेगरी में बांटा गया है-
1- महारत्न
2 नवरत्न
3- मिनिरत्न- कैटेगरी -1
                     कैटेगरी- 2
=>महारत्न
    सरकार द्वारा इस टाइटल की स्थापना 2010 में की गई, जिसने एक कंपनी के निवेश को 1000 करोड़ से बढ़ाकर 5000 करोड़ कर दिया। 

कारोबारी माहौल की रैंकिंग में भारत की लंबी छलांग, वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट में 100वां स्थान


    वर्ल्ड बैंक द्वारा जारी रिपोर्ट में भारत ने ईज ऑफ डूइंग बिजनस रैकिंग्स में लंबी छलांग लगाई है। पिछले साल के 130वें स्थान से 30 अंकों की छलांग लगाते हुए भारत अब 100वें नंबर पर पहुंच गया है।
    छोटे शेयरधारकों की सुरक्षा के मामले में भारत चौथे स्थान पर पहुंच गया है। बिजनस के लिए क्रेडिट उपलब्ध कराने के मामले में भारत को 29वां स्थान मिला है, वहीं बिजनस के लिए इलेक्ट्रिसिटी कनेक्शन दिए जाने के मामले में भारत की रैंकिंग 29वीं है। जबकि टैक्स भरने में भारत की रैकिंग 119वें स्थान पर पहुंची है।'