भारतीय नौसेना : Challenges and reforms needed

Neglacted Indian Navy:

  • भारतीय नौसेना का आकार तीनों सेनाओं में सबसे छोटा है लेकिन यह नीति निर्माण में निपुण है। परंतु रक्षा आवंटन में इसकी हिस्सेदारी चार साल पहले के 18 फीसदी से घटाकर 14.5 फीसदी कर दी गई है। 
  • नौसेना के कई युद्घपोत और खरीद फंड की कमी से जूझ रहे हैं। परमाणु हथियार क्षमता संपन्न विमानवाहक पोत जैसी परियोजना लंबे समय से रुकी पड़ी है

Why to pay attention towards Navy:

पाकिस्तान और चीन ने शुरू किया ग्वादर पोर्ट

क्यों खबरों में :

चीन के माल से लदा जहाज रवाना होने के साथ ही रविवार को पाकिस्तान में अंतरराष्ट्रीय संपर्क का एक और नया मार्ग खुल गया। रणनीतिक महत्व वाले ग्वादर बंदरगाह से 250 कंटेनरों में भरा चीनी माल लेकर यह जहाज पश्चिम एशिया और अफ्रीका के लिए रवाना हुआ।

ऑनलाइन अपराधों के प्रति सबसे अधिक संवेदनशील होते हैं बच्चे : UNICEF

- युनिसेफ का मानना है कि डिजिटल प्रौद्योगिकी बच्चों के विकास के बहुत से अवसर प्रदान करती है लेकिन डिजिटल साक्षरता और आनलाइन सुरक्षा की कमी के कारण बच्चों के साथ आनलाइन अपराध, उत्पीड़न एवं शोषण की सम्भावना कई गुना अधिक होती है। बच्चों के खिलाफ होने वाले साइबर अपराध तेजी से बढ़ रहे हैं लेकिन बहुत कम ऐसे हैं जो प्रकाश में आ पाते हैं।

रूस का एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम S-400 : भारत के लिए क्यों खास है

- गोवा में ब्रिक्स सम्मेलन के दौरान भारत और रूस के बीच कई रक्षा समझौतों पर मुहर लगी लेकिन इमने सबसे महत्वपूर्ण रूस के साथ S-400 एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम करार है।
- 39 हजार करोड़ रुपए वाली इस डील पर भारत और रूस ने दस्तखत किये। इस करार से भारत का आसमान एक तरीके से अभेद हो जाएगा।

=>कैसे कार्य करता है एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम S-400 :-
- एंटी एयरक्राफ्ट डिफेंस सिस्टम की तैनाती से दुश्मन देशों की मिसाइलों को भारतीय वायु सीमा में दाखिल होना एक तरीके से नामुमकिन सा हो जाएगा।

स्लीपर सेल क्या कहलाते हैं?

आतंकियों का वो दस्ता जो आम लोगों के बीच रहता है और आतंकियों के हैंडलर्स से आदेश मिलने के बाद हरकत में आते हैं। लंबे समय तक आम जिंदगी जीने वाले इन लोगों को सरकार के लिए पकड़ना मुश्किल होता है। किसी मॉल-दुकान में काम करने वाले, छोटी-मोटी नौकरी-बिजनेस करने वाले ये स्लीपर सेल सूचनाएं जुटाने में माहिर होते हैं।

स्लीपर सेल जज्बाती होते हैं जो जान देने से भी नहीं चूकते। देश के बिगड़े माहौल में आतंकी इन्हीं स्लीपर सेल को एक्टिव करके नुकसान पहुंचाने की कोशिश करते हैं।

सर्जिकल स्ट्राइक जैसे विशेष अभियानों के लिए भारत की स्पेशल फोर्सेज

सर्जिकल स्ट्राइक को पीओके में स्पेशल फोर्स (भारतीय सेना) ने अंजाम दिया था। हर देश के पास अपनी स्पेशल फोर्स है। ऐसे ऑपरेशंस के लिए भारत में आठ तरह की स्पेशल फोर्स हैं। हर स्पेशल फोर्स में औसतन 650 कमांडो हैं।

1.एनएसजी (ब्लैक कैट)
- सेना व सीआरपीएफ के जांबाज नेशनल सिक्योरिटी गार्ड चुने जाते हैं। इन्हें दुनिया के बेस्ट हथियार दिए जाते हैं। मुंबई, पठानकोठ में इन्होंने ही आतंकी ढेर किए।

2. मरीन कमांडोज
- समुद्री संघर्ष की एक्सपर्ट देश की सबसे घातक फोर्स। ट्रेनिंग ऐसी कि 20 फीसदी ही पास होते हैं।

सार्क में अहम है भारत की भूमिका

भारत के बहिष्कार और कुछ और देशों के साथ आ जाने के बाद पाकिस्तान में होने वाला सार्क सम्मेलन रद्द हो गया है। अफगानिस्तान, बांग्लादेश व भूटान के सहयोग के साथ श्रीलंका तो यह तक कह चुका है कि भारत के बिना सम्मेलन का औचित्य ही नहीं है। जानिए www.gshindi.com की तरफ से आखिर इस संगठन में क्यों अहम है भारत की भूमिका।

जानिए क्या होती है सर्जिकल स्ट्राइक, भारतीय सेना ने कब कब किये सर्जिकल स्ट्राइक ऑपरेशन

Why in news:

हाल  ही में  भारतीय सेना ने एलओसी में सर्जिकल स्ट्राइक कर कई आतंकियों को ढेर कर दिया। इसके साथ ही उनके समूहों को भारी नुकसान भी पहुंचाया। इस कार्रवाई को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में भारतीय सेना ने अंजाम दिया है। आइये जानते हैं क्या होती है सर्जिकल स्ट्राइक...

=>>सर्जिकल स्ट्राइक :-
◆किसी भी सीमित क्षेत्र में सेना जब दुश्मनों या आतंकियों को नुकसान पहुंचाने के लिए सैन्य कार्रवाई करती है, तो उसे सर्जिकल स्ट्राइक कहते हैं।