भारत की कूटनीतिक नीति "कोल्ड स्टार्ट डॉक्ट्रीन" क्या है?

News में क्यों :-

भारत के नए सेना चीफ जनरल बिपिन रावत ने पिछले दिनों 'कोल्ड स्टार्ट डॉक्ट्रीन' का जिक्र किया था। हालांकि इससे पहले भारत इसे सार्वजनिक तौर पर स्वीकार करने से बचता रहा था।

=>क्या है कोल्ड स्टार्ट नीति:-

साइबर सुरक्षा के लिए अलग से बनेगा केंद्र

- देश में डिजिटल भुगतान को लोकप्रिय बनाने की दिशा में साइबर सुरक्षा के खतरों को देखते हुए सरकार ने अलग से एक सुरक्षा ऑपरेशन केंद्र गठित करने का फैसला किया है।

उद्देश्य :-  यह केंद्र एनआइसी के एप्लीकेशन और देश के आइटी इंफ्रास्ट्रक्चर से संबंधित साइबर गतिविधियों की निगरानी करेगा।

- सरकार देश में डिजिटल संचालन को तेज करने के लिए नेशनल इंफॉरमेटिक्स सेंटर (एनआइसी) का इस्तेमाल बढ़ाने पर विचार कर रही है।  देश के डिजिटलीकरण की प्रक्रिया में एनआइसी की भूमिका काफी अहम होगी।

रायसीना डायलॉग २017

यह भारत के geo-political और geo-economic परिप्रेक्ष्य को ध्यान में रखते हुए आयोजित की जाती है | इसका पहला भाग २०१६ में आयोजित किया गया था |

प्रधानमन्त्री के भाषण से कुछ अंश :

सीसीईए ने माओवाद प्रभावित इलाकों के लिए सड़क परियोजनाओं को मंजूरी दी

  • आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीईए) ने वामपंथी उग्रवाद (एलडब्ल्यूई) प्रभावित क्षेत्रों के लिए सड़क संपर्क परियोजना को मंजूरी दी
  • इस परियोजना को प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना (पीएमजीएसवाई) के तहत एक ऊर्ध्वाधर के रूप में लागू किया जाएगा 
  • इस योजना के 35 जिलों सबसे खराब वामपंथी उग्रवाद से प्रभावित पर ध्यान दिया जाएगा। गृह मंत्रालय के अनुसार, इन जिलों में देश में कुल वामपंथी उग्रवाद से हिंसा की 90 फीसदी और नौ आसपास के जिलों के लिए खाते में सुरक्षा की दृष्टि से महत्वपूर्ण हैं।

क्या है  

मणिपुर में जारी नाकेबंदी

मणिपुर में जारी नाकेबंदी को बावन दिन हो गए हैं। राज्य में इस नाकेबंदी ने चौतरफा संकट पैदा किया है। 

Why this blockade:

मणिपुर में यूनाइटेड नगा काउंसिल की ओर से नये जिले बनाने के विरोध में  यह आर्थिक नाकाबंदी चालु की गई है | मणिपुर में नए जिलों के गठन की मांग बहुत पुरानी है. लेकिन तमाम सरकारें अशांति के अंदेशे से पांव पीछे खींचती रही हैं|

Indias maritime boundary and Navy

1971 के भारत पाकिस्तान युद्ध में भारतीय नौसेना ने पाक सेना को धूल चटा दी थी। नौसेना के बहादुर जवानों ने इस युद्ध में चार दिसंबर 1971 के दिन पाकिस्तान के कराची हार्बर बंदरगाह को मिसाइलों से हमलाकर तबाह कर दिया था। नौसेना की इसी बहादुरी को याद करते हुए चार दिसंबर को नवसेना दिवस मनाया जाता है|

 

पाकिस्तान और चीन ने शुरू किया ग्वादर पोर्ट

क्यों खबरों में :

चीन के माल से लदा जहाज रवाना होने के साथ ही रविवार को पाकिस्तान में अंतरराष्ट्रीय संपर्क का एक और नया मार्ग खुल गया। रणनीतिक महत्व वाले ग्वादर बंदरगाह से 250 कंटेनरों में भरा चीनी माल लेकर यह जहाज पश्चिम एशिया और अफ्रीका के लिए रवाना हुआ।